Move to Jagran APP

Delhi Crime: एसी ठीक करने के बहाने घर में महिला को बनाया बंधक, फिर लूटकर हुए फरार; दो गिरफ्तार

एयर कंडिशन (एसी) की सर्विस करने के बहाने महिला को बंधक बनाकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों को द्वारका नार्थ थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों की पहचान धर्मपुरा के सौरभ राज व चंद्रभान के रूप में हुई है।

By Manisha GargEdited By: GeetarjunPublished: Sun, 19 Mar 2023 11:34 PM (IST)Updated: Sun, 19 Mar 2023 11:34 PM (IST)
Delhi Crime: एसी ठीक करने के बहाने घर में महिला को बनाया बंधक, फिर लूटकर हुए फरार; दो गिरफ्तार
एसी ठीक करने के बहाने घर में महिला को बनाया बंधक, फिर लूटकर हुए फरार; दो गिरफ्तार

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। एयर कंडिशन (एसी) की सर्विस करने के बहाने महिला को बंधक बनाकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों को द्वारका नार्थ थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों की पहचान धर्मपुरा के सौरभ राज व चंद्रभान के रूप में हुई है।

loksabha election banner

आरोपित के पास से पुलिस ने एक मोटरसाइकिल, एक स्कूटी, दो मोबाइल फोन, पांच एटीएम कार्ड, दो आधार कार्ड, एक फर्जी पैन कार्ड व एयर कंडिशन की सर्विस उपकरण को बरामद किया है। मामले में पुलिस आरोपितों के दो अन्य साथियों को दबोचने के लिए दबिश दे रही है।

द्वारका जिला पुलिस उपायुक्त एम हर्षवर्धन ने बताया कि 15 मार्च को द्वारका नार्थ थाना पुलिस को पीड़िता ने शिकायत के दौरान बताया था कि 13 मार्च को उन्होंने एसी की वोल्टास सर्विस सेंटर में शिकायत दी थी। 15 मार्च को मैकेनिक सर्विस के लिए घर आए पर काम के दौरान वे दो-तीन बार घर के बाहर गए और अंदर आए।

हर बार कुछ न कुछ काम अधूरा छोड़कर चले गए। दोपहर करीब साढ़े 12 बजे जब घर में कोई दूसरा सदस्य नहीं था तो चार लोग घर में आए, उसमें एसी मैकेनिक भी शामिल थे। उन्होंने पीड़िता को बंधक बना लिया और लूट की वारदात को अंजाम देने लगे। पर पीड़िता ने चीखना-चिल्लाना शुरू किया और डर के चलते चारों बदमाश अपना बैग व जूते मौके पर छोड़कर ही फरार हो गए

मामले की छानबीन के लिए टीम का गठन किया गया और टीम ने घटनास्थल पर लगे सभी सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगाला। सूत्रों की मदद से आरोपितों के बारे में जानकारी मिली और 17 मार्च को उन्हें ककरौला से दबोच लिया गया। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि उन्होंने प्रद्युम्मन व अभिषेक के साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया था।

आरोपित सौरभ ने बताया कि वह नो ब्रोकर, माय मूवी फोर्स एंड अर्बनक्लैप में कर्मचारी था और एसी रिपेयरिंग सेवाएं प्रदान करता था। वही आरोपित चंद्रभान पंजीकृत कंपनियों के नाम से फर्जी आइडी कार्ड उपलब्ध कराता था। वे अपनी फर्जी पहचान के साथ खुद को एसी सेवा प्रदाता के रूप में पेश करते थे और एक ही स्थान पर दो-तीन बार जाते थे। जब उन्हें घर पर अकेली महिला मिलती तो वह लूट की वारदात को अंजाम देते थे।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.