Move to Jagran APP

Delhi: NCR कुख्यात तस्कर सौ कछुओं के साथ गिरफ्तार, देश के कोने-कोने से लाकर करते थे डिलीवरी

Delhi Crime News पुलिस ने तस्कर के पास से ब्लैक टेरापिन इंडियन रूपड़ लागर समेत कई प्रजातियों के सौ कछुए बरामद किए हैं। वह इनको 3500 से लेकर पांच हजार रुपये तक की कीमत में बेचता था। यह कछुए देश के अन्य राज्यों से लाए जाते थे जहां समुद्र है। पुलिस उससे उसके साथियों और गिरोह के बारे में भी पता कर रही है।

By SHUZAUDDIN SHUZAUDDIN Edited By: Geetarjun Tue, 09 Jul 2024 10:58 PM (IST)
दिल्ली पुलिस ने पकड़ा तस्कर और बरामद कछुए।

जागरण संवाददाता, पूर्वी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी कछुआ तस्करों का अड्डा बन रही है। तस्कर बंगाल, महाराष्ट्र व गुजरात से कछुए लाकर यहां बेच रहे हैं। सोमवार को पीपुल फॉर एनिमल्स संगठन (पीएफए) ने दिल्ली पुलिस की मदद से एनसीआर के कुख्यात कछुआ तस्कर को गिरफ्तार किया। उसकी पहचान उत्तर प्रदेश के गढ़मुक्तेश्वर निवासी भीम के रूप में हुई है।

पुलिस ने इसके पास से ब्लैक टेरापिन, इंडियन रूपड़, लागर समेत कई प्रजातियों के सौ कछुए बरामद किए हैं। एक कछुए की कीमत 3500 से लेकर पांच हजार रुपये है। पीएफए के एनिमल वेलफेयर आफिसर गौरव गुप्ता की शिकायत पर गीता कालोनी थाना ने वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत प्राथमिकी की है।

इसके साथी विजय नगर निवासी रवि भटनागर उर्फ तमंचा की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। पीएफए का दावा है इससे पहले दिल्ली में इतनी संख्या में कछुए बरामद नहीं किए गए।

कछुओं की बड़े स्तर पर तस्करी

गौरव गुप्ता ने पुलिस को बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि रवि भटनागर व भीम एनसीआर में कछुओं की बड़े स्तर पर तस्करी कर रहे हैं। जबकि कछुओं को बेचना व खरीदना और उन्हें पालना गैर कानूनी है। एक सप्ताह पहले उन्होंने फोन के जरिये नकली ग्राहक बताकर भीम से संपर्क किया और सौ कछुए खरीदने की इच्छा जाहिर की।

कछुओं की होनी थी डिलीवरी

रवि ने उनसे कहा कि वह कुछ ही दिनों में सौ कछुओं का इंतजाम कर देगा। कछुओं की प्रजाति के अनुसार उसने कीमत बता दी। उसने गौरव गुप्ता को फोन करके मंगलवार को कछुओं की डिलीवरी देने के लिए गीता कॉलोनी फ्लाईओवर के पास बुलाया। इस बीच गौरव ने मामले की सूचना पुलिस को दी।

तीन बोरियों में भरे थे कछुए

थानाध्यक्ष सत्यवान लठवाल के नेतृत्व में एक टीम फ्लाईओवर के पास पहुंची। भीम तीन बोरियों में कछुए लेकर फ्लाईओवर के पास पहुंचा और गौरव गुप्ता को गिनवाने लगा। तभी पुलिस ने तस्कर को दबोच लिया।

ये भी पढ़ें- Delhi: छात्रा ने ट्यूशन टीचर पर लगाया गलत तरीके से छूने का आरोप, पुलिस की जांच ने चौंकाया

आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह और उसका साथी रवि कई राज्यों से कछुए लाते हैं और एनसीआर में बेचते हैं। यहां उन्हें कछुओं की कीमत अच्छी मिल जाती है। वह मांग के अनुसार कछुओं की डिलीवरी करते हैं। पुलिस इसका आपराधिक रिकार्ड खंगाल रही है।