नई दिल्ली [जेेएनएन]। दिल्ली के पेट्रोल पंप मालिक 5 और 12 जुलाई को होने वाली हड़ताल में शामिल नहीं होंगे। ऑल इंडिया पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन (एआइपीडीए) ने पेट्रोल-डीजल के दामों में रोजाना बदलाव के केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ हड़ताल पर जाने की घोषणा की है।

राष्ट्रीय स्तर पर 5 जुलाई को पेट्रोल पंप जहां पेट्रो कंपनियों से उत्पाद नहीं खरीदेंगे तो वहीं 12 जुलाई को खरीद के साथ बिक्री भी नहीं होगी। वहीं एआइपीडीए को दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन (डीपीडीए) ने झटका दिया है।

डीपीडीए के अध्यक्ष निश्चल सिंघानिया ने कहा कि केंद्र सरकार ने रोजाना दामों में बदलाव से मौजूद स्टॉक पर होने वाले घाटे की भरपाई पर विचार करने के लिए 30 जुलाई तक की मोहलत ली है। पेट्रोलियम मंत्रालय ने डीजल पर मौजूदा 1.65 पैसे और पेट्रोल पर 2.50 पैसे कमीशन मे बढ़ोतरी का आश्वासन दिया है। हड़ताल पर जाने से पहले सरकार के रुख का इंतजार करना चाहिए।

इससे पहले भी इसी मुद्दे पर 16 जून को पेट्रोल पंप मालिक हड़ताल कर चुके है, जो दबाव डालने में असफल रहा था। जब तक राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के सभी संगठन मिलकर हड़ताल का आह्वान नहीं करेंगे तब तक सरकार पर असर नहीं पड़ेगा। गौरतलब है कि दिल्ली में 400 से अधिक पेट्रोल पंप हैं। 

यह भी पढ़ें: टमाटर के दामों पर सख्‍त हुई दिल्‍ली सरकार, जमाखारों की खैर नहीं

यह भी पढ़ें: लड़की को देखने आया 3 दिन घर में रुका, फिर डॉक्टरों ने कहा- 'यू आर प्रेग्नेंट'

Posted By: Amit Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप