नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) ने बालीवुड से जुड़े ऐसे लोगों पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है, जिनके नाम ड्रग मामले से जुड़े हुए हैं। मंच ने कहा है कि जिस तरह खेल में डोपिंग जांच की कड़ी व्यवस्था है उसी तरह बालीवुड में नशे से जुड़े लोगों पर सख्ती से लगाम लगाना चाहिए। शाहरुख खान पर भी प्रतिबंध लगना चाहिए।

बता दें कि शाह रुख खान के बेटे आर्यन खान की ड्रग मामले में गिरफ्तारी के बाद बालीवुड के ड्रग संबंधों को लेकर देश में बड़ी बहस छिड़ी हुई है। इसमें एमआरएम भी कूद पड़ा है। मंच के राष्ट्रीय संयोजक, सह संयोजक व कार्यकारिणी सदस्यों की ओर से जारी बयान में इस मामले को हिंदू-मुस्लिम रंग देते राजनीतिक दलों व नेताओं पर प्रहार भी है। मंच ने आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुसलमिन (एआइएमएआइएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर भी प्रतिबंध लगाने की मांग करते हुए कहा है कि वह अपनी नापाक जुबान से हर समय देश की अवाम को बांटने पर आमादा रहते हैं।

इसके साथ ही आर्यन के नाम के पीछे "खान' लगे होने से उन्हें प्रताड़ित करने संबंधी जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के बयान को घड़ियाली आंसू बताते हुए कहा है कि कश्मीर में हिंदुओं और सिखों की हत्याओं पर उनकी जुबान पर ताले पड़ जाते हैं। यह वहीं महबूबा हैं जिन्होंने खुलेआम अनुच्छेद 370 और 35 ए को हटाए जाने का विरोध करते हुए धमकी दी थी कि खून की नदियां बहेंगी। अब समय आ गया है ऐसे नेताओं को देश छोड़कर कहीं और बसेरा ढूंढ लेना चाहिए। देश में गद्दार, स्वार्थी, दोहरे चरित्रों व मापदंडों वाले नेताओं के लिए कोई स्थान नहीं है।

Edited By: Pradeep Chauhan