नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। बीते दो दिनों से मौसम के पारे में गिरावट हो रही है। बरसात की वजह से न्यूनतम तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है उधर पहाड़ो में हो रही बरसात की वजह से यमुना नदी के जलस्तर में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। दिल्ली सरकार और बाढ़ नियंत्रण विभाग की ओर से इस पर नजर रखी जा रही है उधर मौसम विभाग की ओर से शुक्रवार को पूरे दिन के मौसम के बारे में जानकारी दी गई। विभाग की ओर से शुक्रवार को भी दिनभर रुक-रुककर बारिश होने का पूर्वानुमान जताया गया है, इससे न्यूनतम और अधिकतम तापमान में गिरावट के साथ उमस और गर्मी से भी राहत मिलने की बात कही गई।

उधर भारतीय मौसम विज्ञान विभाग का पूर्वानुमान है कि बारिश का यह दौर अगले छह दिन तक जारी रहेगा। मौसम विभाग ने अगले छह दिन के लिए यलो अलर्ट भी जारी किया है। वहीं, मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर के कुछ इलाकों में दिन भर बारिश की संभावना जताई है। इसके साथ शुक्रवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 32 और 25 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। वहीं स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने बताया कि मानसून की अक्षीय रेखा अगले कई दिन मैदानी क्षेत्रों में घूमती रहेगी। इसी के चलते कभी कम और कभी ज्यादा बारिश का दौर भी अगले कई दिन तक चलता रहेगा।

बरसात से हवा भी हुई साफ

बरसात की वजह से हवा में मौजूद धूल के महीन कणों की मात्रा भी कम हो गई है। आसमान साफ दिख रहा है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) की तरफ से जारी एयर क्वालिटी बुलेटिन के अनुसार गुरुवार को एनसीआर में सभी जगहों का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ)100 से भी कम रिकार्ड किया गया, जो संतोषजनक वायु गुणवत्ता दर्शाता है। अगले कुछ दिनों तक इसी तरह से बरसात की वजह से धूल के महीन कणों की मात्रा में गिरावट बताई गई है।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari