Move to Jagran APP

Delhi MCD Election: दंगा प्रभावित मुस्लिम बहुल क्षेत्र में कांग्रेस ने मारी बाजी, जानें किसके सर पर सजा ताज

दिल्ली नगर निगम चुनाव(Delhi MCD Election) में इस बार 14 मुस्लिम उम्मीदवार जीते हैं। जिसमें सात कांग्रेस से हैं। दिल्ली दंगों से प्रभावित इन क्षेत्र में मुस्लिमों ने कांग्रेस की डूबती हुई नैया को पार लगाया है। (सांकेतिक तस्वीर)

By SHUZAUDDIN SHUZAUDDINEdited By: Abhi MalviyaPublished: Thu, 08 Dec 2022 10:52 AM (IST)Updated: Thu, 08 Dec 2022 01:48 PM (IST)
Delhi MCD Election: दंगा प्रभावित मुस्लिम बहुल क्षेत्र में कांग्रेस ने मारी बाजी, जानें किसके सर पर सजा ताज
दंगा प्रभावित मुस्लिम बहुल क्षेत्र में जीते कांग्रेस के 14 उम्मीदवार, फाइल फोटो

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता : दिल्ली नगर निगम चुनाव में इस बार 14 मुस्लिम उम्मीदवार जीते हैं। जिसमें सात कांग्रेस से हैं। दिल्ली दंगा प्रभावित क्षेत्र चौहान बांगर, कबीर नगर, मुस्तफाबाद, ब्रजपुरी, जाकिर नगर में मुस्लिमों ने हाथ थाम कर कांग्रेस की डूबती हुई नैया को पार लगाने का काम किया है।

loksabha election banner

दिल्ली दंगों के बाद पहली बार हुए चुनाव 

दंगे के बाद पहली बार दिल्ली में निगम चुनाव हुए। उत्तर पूर्वी दिल्ली व ओखला के मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में इस बार शिक्षा, सफाई जैसे मुद्दों पर दिल्ली दंगा व कोरोना काल के दौरान हजरत निजामुद्दीन मरकज पर सील लगने का मुद्दा हावी रहा। कांग्रेस ने इन दोनों मुद्दों को खूब भुनाया। जिस मुस्लिम बहुल वार्ड में आप की हार हुई, वहां के रहने वालों का कहना है कि दंगे व मरकज पर आप नेता चुप रहे इसलिए उन्होंने कांग्रेस का हाथ पकड़ा। इस बार आप के वरिष्ठ नेता भी मुस्लिम क्षेत्रों से चुनाव प्रचार में गायब दिखे।

दंगों का असर आप की जीत पर पड़ा, दो पार्षद हारे

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर ओखला के शाहीन बाग में वर्ष 2019 और उत्तर पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर, मुस्तफाबाद, ब्रजपुरी, कबीर नगर में वर्ष 2020 में बड़े स्तर पर धरना प्रदर्शन हुए थे। 23 फरवरी 2022 को अचानक उत्तर पूर्वी दिल्ली में दंगे भड़क गए थे। जिसमें 53 लोगों की जाने गई थी, सैकड़ों घरों व दुकानों को आग लगा दी गई थी। यह दिल्ली के भयानक दंगों में से एक थे। राजनीतिक विशेषज्ञों की माने तो दंगे का असर आप की राजनीति पर पड़ा है। दंगे से पहले कांग्रेस का जो मुस्लिम वोट उससे कटकर आप की झोली में चला गया था, दंगे के बाद हुए चुनाव में काफी हद तक वह वोट बैंक कांग्रेस के पाले में वापस आ गया है। दंगा प्रभावित कबीर नगर व अबुल अबुल फजल एन्क्लेव में आप के सीटिंग पार्षदों को कांग्रेस के उम्मीदवारों ने हराया है।

पुरानी दिल्ली में मुस्लिमों ने चलाई झाड़ू

पुरानी दिल्ली के कुछ क्षेत्रों में भी सीएए को लेकर प्रदर्शन हुए थे। लेकिन वहां पर उत्तर पूर्वी दिल्ली और ओखला की तरह दंगे नहीं हुए थे। इस निगम चुनाव में भले ही दंगा प्रभावित क्षेत्र में कांग्रेस का जादू चला हो, लेकिन पुरानी दिल्ली के मुस्लिमों ने झाड़ू से कांग्रेस का सफाया कर दिया है। पुरानी दिल्ली से आप के पांच प्रत्याशी जीते हैं, कांग्रेस की एक भी सीट नहीं आई है। चांदनी महल वार्ड से आप के आले मोहम्मद इकबाल ने दिल्ली में सबसे अधिक वोट के अंतर से जीते हैं।

दिल्ली में जीते 14 मुस्लिम उम्मीदवार

वार्ड कांग्रेस                विजयी उम्मीदवार

चौहान बांगर                शगुफ्ता चौधरी

मुस्तफाबाद                 सबीला

ब्रजपुरी                       नाजिया

शास्त्री पार्क                 समीर अहमद

कबीर नगर                 जरीफ

जाकिर नगर               नाजिया दानिश

अबुल फजल एन्क्लेव   अरीबा खान

वार्ड आप                  विजयी उम्मीदवार

जामा मस्जिद              सुल्ताना आबाद

चांदनी महल               आले मोहम्मद इकबाल

बाजार सीताराम           राफिया माहिर

बल्लीमारान                 मोहम्मद सादिक

कुरैशी नगर                 शमीम बानो

श्रीराम कॉलोनी             मोहम्मद आमिल मलिक

वार्ड                           पार्टी

शकीला अफजाल        निर्दलीय


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.