नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। दिल्ली कैबिनेट से जल्द ही 300 इलेक्ट्रिक (ई) बसों की खरीद को मंजूरी मिलने जा रही है। कुछ दिन पहले ही टेंडर को डीटीसी बोर्ड से मंजूरी मिल चुकी है। माना जा रहा है कि ये बसें दिसंबर से आनी शुरू हो जाएंगी। डीटीसी अधिकारियों के मुताबिक इन इलेक्ट्रिक बसों के लिए डीटीसी ने पांच डिपो तैयार करने का फैसला लिया है। इसमें सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक बस डिपो मुंढेला कलां में तैयार किया जाएगा। यहां पर 100 बसों की पार्किंग की व्यवस्था होगी। यह डिपो पूरी तरह से इलेक्ट्रिक बस डिपो होगा, जहां बसों के लिए चार्जिग प्वाइंट बनाए जाएंगे।

इसके अलावा सुभाष प्लेस, मायापुरी, रोहिणी, राजघाट में भी एक-एक डिपो होगा। इन सभी डिपो में 50-50 बसें खड़ी करने की व्यवस्था होगी। इन बसों के लिए पर्याप्त चार्जिग प्वाइंट होंगे। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत का कहना है कि अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि इन पांचों डिपो को जल्द तैयार किया जाए। उन्होंने बताया कि 300 बसों की खरीद के टेंडर को अगले सप्ताह तक कैबिनेट से मंजूरी मिलने की उम्मीद है।

दिल्ली में 1300 ई-बसें लाने की योजना

दिल्ली सरकार ने परिवहन के क्षेत्र के लिए बजट में 5941 करोड़ का प्रविधान रखा है। वहीं 1300 ई-बसें लाने की योजना है। इनमें से 300 डीटीसी द्वारा खरीदी जाएंगी। इसके अलावा एक हजार क्लस्टर बसें जनवरी से आनी शुरू हो जाएंगी। हौजखास और नेहरू प्लेस में भी डिपो तैयार किया जाएगा।

बता दें कि केजरीवाल सरकार राजधानी में प्रदूषण कम करने के लिए इलेक्ट्रिक वाहन पॉलिसी लेकर आयी है। इसके तरह इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने पर सब्सिडी दी जा रही है।  इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वालों को सरकार की तरफ से तमाम सुविधाएं मुहैया भी कराई जा रही हैं। इसी कड़ी में सरकार अपने परिवहन बेड़े में भी इलेक्ट्रिक बसें लाने जा रही है। दिल्ली में कुल 1300 ई-बसें खरीदने की योजना है। ये बसें अलग-अलग समय पर सड़कों पर उतारी जाएंगी। 

Edited By: Mangal Yadav