नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दो कुख्यात अंतरराज्यीय वाहन चोर समेत चोरी की बाइक खरीदने वाले चार रिसीवर को गिरफ्तार किया है। चोरी की बाइक खरीदने वाले चार रिसीवरों की 11 दुकानों पर छापा मार पुलिस ने चोरी की बाइकों के 207 इंजन व सात चेसिस समेत इंजन व चेसिस नंबर मिटाने वाले उपकरण भी बरामद किए हैं। इनकी गिरफ्तारी से पुलिस ने वाहन चोरी के 67 मामले सुलझाने का दावा किया है। काफी समय बाद पुलिस ने एक बड़े वाहन चोर गिरोह का भंडाफोड़ कर बड़ी उपलब्धि हासिल की है।

डीसीपी क्राइम ब्रांच के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आरोपितों के नाम अजीम, (ओल्ड मुस्तफाबाद), जावेद (चौहान बांगर, सीलमपुर), फुरकान (विजय पार्क, मौजपुर), हरिओम (जनता कॉलोनी, वेलकम), शाहिद अहमद, (जनता कॉलोनी, वेलकम) व नदीम (भागीरथी विहार) है।

वाहन चोरी के मामलों की जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को पता चला कि आनंद विहार थाना क्षेत्र में चस्का रेस्तरां, ए ब्लॉक, सूरजमल विहार मार्केट के पास से बाइक चोरी की घटनाएं नियमित रूप से हो रही है। उक्त जगह वाहन चोरी के हाटस्पॉट के रूप में सामने आया। इसके बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने तकनीकी व मैनुअल तरीके से जानकारी जुटाना शुरू कर दिया। आसपास की दुकानों के सीसीटीवी फुटेज की जांच करने से पुलिस टीम को कुछ सुराग मिले।

इसके बाद एसीपी अरविंद कुमार व इंस्पेक्टर अरुण सिंधु की टीम ने विस्तृत जांच शुरू कर दी। फुटेज के जरिए दो संदिग्ध की पहचान की गई और उक्त लीड को और विकसित किया गया। पुलिस टीम जांच कर ही रही थी कि 19 मई को एएसआई सुभाष चंद को सूचना मिली कि दो वाहन चोर मोटरसाइकिल चोरी करने सूरजमल विहार मार्केट ए ब्लॉक में आएंगे।

पुलिस टीम को चस्का रेस्तरां के पास रात करीब साढ़े आठ बजे एक संदिग्ध व्यक्ति घूमता हुआ नजर आया। उसे रोक कर जब उससे पूछताछ की गई तब उसकी पहचान अजीम के रूप में हुई। वह वाहन चोर निकला। पूछताछ के दौरान उसने बाइक चोरी करने के लिए वहां आने की बात स्वीकारी। सख्ती से पूछताछ करने पर उसने एक साल के दौरान 100 से अधिक वाहन चोरी करने की बात कही।

अजीम से पूछताछ के बाद पुलिस टीम ने उसके सहयोगी जावेद को चौहान बांगर, सीलमपुर से उसके किराए के घर से गिरफ्तार कर लिया। जावेद पेशे से बाइक मैकेनिक निकला। वह चार आपराधिक मामलों में संलिप्त पाया गया। दोनों वाहन चाेर जावेद और अजीम से विस्तृत पूछताछ के बाद चोरी की बाइक खरीदने वाले फुरकान को डीडीए टायर मार्केट, गोकुलपुरी स्थित उसकी स्पेयर पार्ट्स की दुकान से गिरफ्तार कर लिया गया।

फुरकान की डीडीए टायर मार्केट, गोकुलपुरी मोटरसाइकिल स्पेयर पार्ट्स की आठ दुकानें हैं। सभी दुकानों की तलाशी लेने पर उक्त दुकानों से 100 से अधिक बाइक के इंजन और इंजन ब्लॉक, इंजन नंबरों को मिटाने व बदलने के उपकरण पाए गए। साथ ही बड़ी संख्या में बाइक के कल-पुर्जे, टायर, टैंक व अन्य सामान बरामद किए गए। चोरी की बाइक के पार्टस बरामद होने पर उक्त दुकानों को सील कर दिया गया है।

फुरकान से पूछताछ के बाद तीन स्क्रैप डीलरों शाहिद, हरिओम व नदीम को उनकी दुकानों से गिरफ्तार कर लिया गया। शाहिद और हरिओम की जी ब्लॉक वेलकम में कबाड़ की दुकान है। नदीम की गोकुलपुरी में कबाड़ की दुकान है। इनकी दुकानों की तलाशी पर भी इंजन, इंजन ब्लॉक और अन्य पुराने कल पुर्जे बरामद किए गए।

पुलिस का कहना है कि मोटरसाइकिल चोरी करने के दौरान इनमें एक मालिक पर नजर रखता था जबकि दूसरा मोटरसाइकिल चोरी करता था। वाहन चोरी करने के बाद वे रिसीवर को बेच देते थे। रिसीवर चोरी की बाइक के चेसिस व ईंजन नंबर बदलकर ग्राहकों को बेच देते थे।

Edited By: Prateek Kumar