नई दिल्ली [विनीत त्रिपाठी/ किशन कुमार]। दिल्ली के फिल्मिस्तान इलाके के अनाज मंडी में 45 लोगों की मौत ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। पीड़ित परिवारों में मातम पसरा है। दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती घायलों को देखने के लिए और शवों की पहचान के लिए परिजन पहुंच रहे हैं। अस्पतालों में कुछ मृतकों की पहचान हुई है। 

कुछ परिजनों का कहना है कि वे अस्पताल का चक्कर लगा रहे हैं लेकिन उन्हें अपनों की जानकारी नहीं मिल पा रही है। लोगों का कहना है कि उनके परिजन भी फैक्ट्री में काम कर रहे थे लेकिन उनका पता नहीं चल रहा है। 

बिहार के इन लोगों की मौत की पुष्टि

लेडी हार्डिंग अस्पताल में अभी तक तीन मृतकों की पहचान हुई है। बिहार के समस्तीपुर के रहने वाले 17 वर्षीय मृतक मोहम्मद अताबुल की पहचान उनके भाई वाजिद ने की है। इसके अलावा मृतकों में महबूब और बबलू की पहचान हुई है। वहीं मधुबनी के गांव मलमल के रहने वाले साकिर की भी मौत हो चुकी है। परिवार में तीन बच्चे हैं। पत्नी गर्भवती हैं।

मृतक बबलू 24 वर्षीय की पहचान उनके चचरे भाई फिजा अली ने की है। इनका कहना है बबलू अपने भाई दुलारे के साथ अनाज मंडी में रहता था और पांच साल से टीशर्ट और जीन्स पर प्रिंटिंग का काम करता था। फिजा अली के फुफेरे भाई 24 साल के राजू और 22 साल के तौकीर का अब तक पता नहीं चला है।

लेडी हार्डिंग में समस्तीपुर जिला के ब्रम्हपुरा के रहने वाले मोहम्मद इमरान ने गांव के रहने वाले इदरीश के बेटे के शव की पहचान की। मृतक की पहचान मो. महबूब थाना सिंघीया के रुप में हुई है। मौत की वजह जलने से बताई गई है। अभी तक इमरान का भाई सहमद नहीं मिला है और वह उनकी तलाश कर रहे हैं।

अग्निकांड में सहरसा जिले के गांव नरियार के रहने वाले सजीमुद्दीम भी मारे गए हैं। वे यहां पर करीब दस साल से काम कर रहे थे। उनके परिवार में 5 बेटी व एक बेटा है।

बिजनौर के मुशर्रफ की मौत 

अनाज मंडी अग्निकांड में यूपी के जिला बिजनौर के गांव माई टांडा के रहने वाले मुशर्रफ की मौत हो गई है। साल 2005 में इनकी शादी हुई थी। इनके परिवार में पत्नी और तीन बेटी व एक बेटा है। पिता की पहले ही मौत हो चुकी है। मुशर्रफ परिवार में अकेले कमाने वाले थे। बताया जा रहा है कि इसी गांव के रहने वाले अन्य लोग भी घटना में शामिल हैं। अभी तक इनके बारे में जानकारी नहीं मिली है। वहीं मोहमद इकराम अपने गांव के लोगों की पहचान के लिए लेडी हार्डिंग पहुचे हैं। महबूब की मौसी का लड़का अनाज मंडी स्थित फैक्ट्री में काम करता था।

समस्तीपुर के अरशद आलम अस्पताल में भर्ती

लेडी हार्डिंग हॉस्पिटल में दो लोग भर्ती हैं जिनका इलाज चल रहा है। एक घायल का नाम अरशद आलम है। जबकि दूसरे का नाम मोहम्मद अफजल है, इन्हें  दोपहर 1:30 पर लाया गया। अफजल थोड़े जले हैं और उनका उपचार किया जा रहा है। 

जबकि अरशद को रविवार की सुबह 7:21 बजे लेडी हार्डिंग अस्पताल में भर्ती किया गया। 19 साल के अरशद के परिवार से दिल्ली में कोई नही है। अरशद बिहार, समस्तीपुर का रहना वाला है। जब आग लगी तब अरशद चौथे फ्लोर में सो रहा था। आग लगने से उठे धुंए में फंस गया और फिर फायर टेंडर टीम ने बाहर निकालकर लेडी हॉर्डिंग हॉस्पिटल भेजा। अरशद आलम को 72 घण्टे के लिए ऑब्जरवेशन में रखा जाएगा। अरशद की छाती में काफी धुआं चला गया है। फिलहाल ऑक्सिजन मास्क की मदद से ट्रीटमेंट किया जा रहा है।

बिहार के सहरसा गांव के नरियार के रहने वाले सजीमुद्दीम (55)  की भी मौत हो गई है। 

समस्तीपुर के गांव हरिपुर के रहने वाले साजिद (23 वर्ष) की भी मौत हो गई है।  

मुरादाबाद इकरम और इमरान दोनों की मौत हो गई है। 

ये भी पढ़ेंः Delhi Fire Live Updates: फैक्ट्री मालिक रिहान समेत 2 पुलिस हिरासत में, अब तक 45 की मौत

Delhi Anaj Mandi Fire: मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख मुआवजा देगी दिल्ली सरकार, जांच के आदेश

  

Posted By: Mangal Yadav

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस