नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। विदेशों में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से गुरुवार से विशेष उड़ानों का संचालन किया जा रहा है। सिंगापुर से भारतीयों को लेकर पहली उड़ान आइजीआइ एयरपोर्ट पर शुक्रवार को पहुंच गई। बताया जा रहा है कि सिंगापुर से 250 से ज्यादा भारतीय दिल्ली पहुंचे। इन लोगों को एयरपोर्ट से ले जाने के लिए यूपी, हरियाणा और पंजाब की राज्य परिवहन की बसें भी पहुंची।

आइजीआइ के टर्मिनल तीन के परिसर में पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन की बसें भी अपने अपने-राज्य में रहने वाले लोगों को ले जाने के लिये खड़ी कर दी गई। ये बसें अपने राज्यों के यात्रियों को लेकर रवाना हो गई।

एयरपोर्ट अधिकारी के मुताबिक सात से 13 मई के बीच आइजीआइ एयरपोर्ट से संचालित करीब 14 विशेष उड़ानों से विदेश में फंसे भारतियों को लाया जाएगा। जांच के बाद कोरोना संक्रमण के लक्षण मिलने पर यात्री को सीधे अस्पताल भेज दिया जाएगा। जबकि अन्य यात्रियों को सेल्फ-रिपोर्टिंग फॉर्म भराकर उन्हें 14 दिन के सेल्फ क्वारंटाइन की हिदायत दी जाएगी।

विदेश से लौटने वालों को संभालने के लिए 30 कर्मियों की एक टीम बनाई गई है। टीम में सीआइएसएफ अधिकारी की अध्यक्षता में डायल, एयरलाइंस, इमिग्रेशन और दिल्ली पुलिस के कर्मी शामिल हैं। बेल्ट से अपना अपना सामान लेने के बाद यात्रियों को एयरपोर्ट पर विशेष कॉरिडोर से गेट नंबर 6 से बाहर निकाल उन्हें राज्य सरकार के अधिकारियों के सुपुर्द कर दिया जाएगा।

सात मई से मलेशिया, सिंगापुर, फिलीपींस, यूनाइटेड किंगडम, बांग्लादेश, सऊदी अरब, यूएई और यूएसए जैसे स्थानों के लिए करीब 14 उड़ानों का संचालन किया गया। पहली उड़ान सात मई की रात सिंगापुर के लिए रवाना हुई। यह उड़ान 8 मई की सुबह भरतीय यात्रियों को लेकर लौटी। दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) अधिकारी के मुताबिक उड़ानों को संभालने के लिए एयरपोर्ट तैयार है। वहां डायल के 500 कर्मी तैनात है। वहीं सीआइएसएफ, इमिग्रेशन, एयरलाइंस और एटीसी कर्मचारियों से लगातार समन्वय में कार्य हो रहा है।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस