नई दिल्ली [शुजाउद्दीन]। जगतपुरी थाने के पास रविवार शाम चाइनीज मांझे की चपेट में आने से मोटरसाइकिल सवार अभिनव नाम के युवक की गर्दन कट गई। युवक मोटरसाइकिल समेत सड़क पर गिर गया और दर्द से तड़पने लगा। अभिनव के लिए दानिश नाम का युवक फरिश्ता बनकर आया, खून को रोकने के लिए अपनी पहनी हुई टीशर्ट को उतारकर उसके गले पर बांधा। आटो से पटपड़गंज स्थित मैक्स अस्पताल लेकर गया।

अस्पताल में भर्ती, हालत गंभीर

अस्पताल में सर्जरी के बाद युवक को आइसीयू में वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। हालत गंभीर बनी हुई है। जगतपुरी थाना पुलिस ने इस मामले में प्राथमिकी पंजीकृत कर ली। जगतपुरी निवासी दानिश ने इंसानियत की जो मिसाल पेश की और उसे खूब सराहा जा रहा है।

पुलिस उपायुक्त ने गले लगाकर दिया धन्यवाद

दानिश एक निजी कंपनी में अनुवादक (ट्रांसलेटर) हैं। शाहदरा के जिला पुलिस उपायुक्त आर सत्यसुंदरम खुद अस्पताल पहुंचे और दानिश को गले लगाकर युवक की जान बचाने के लिए उसका धन्यवाद किया। उसके कार्य को देखते हुए दानिश को अपने कार्यालय में बुलाकर सम्मानित किया।

परिवार ने किया शुक्रिया अदा

अभिनव का परिवार दानिश का धन्यवाद करते हुए थक नहीं रहा है। अभिनव के परिवार का कहना है कि अगर दानिश उसे समय पर अस्पताल में भर्ती नहीं करवाता तो उसकी जान को अधिक खतरा हो सकता था। दानिश ने कहा कि वह हादसे के वक्त पैदल जा रहे थे, उन्होंने देखा कि अचानक से एक मोटरसाइकिल सवार सड़क पर गिर गया और दर्द से तड़प रहा है। वह उसके पास पहुंचे और युवक के सिर से हेलमेट हटाया तो देखा गर्दन पर मांझा लिपटा हुआ है। उसकी गर्दन से बहुत खून बह रहा है, उन्होंने टीशर्ट उतारकर युवक की गर्दन पर बांधी और एक आटो करके बिना देरी किए उसे लेकर अस्पताल पहुंचे। उन्होंने कहा कि एक घायल को अस्पताल पहुंचाकर उन्होंने अपनी जिंदगी का सबसे बड़ा काम किया है। चाइनीज मांझा मौत का औजार बन गया है, इसकी बिक्री पूरी तरह से रूकनी चाहिए।

पुलिस ने दो दुकानदारों को किया गिरफ्तार

पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए सोमवार को चाइनीज मांझा बेचने वाले दो दुकानदारों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों की पहचान साबिर व संजय सचदेवा के रूप में हुई है। पुलिस ने इनके पास मांझे की 222 चरखी बरामद की है। दोनों दुकानदार चोरी छिपे मांझा बेच रहे थे।

यह है मामला

अभिनव परिवार के साथ बदरपुर के मीठापुर इलाके में रहते हैं। परिवार में माता-पिता व एक बड़ा भाई है। उनकी बहन प्रिया अपने पति के साथ के सुख विहार में रहती है। वह एमबीए की पढ़ाई कर रहे हैं। रविवार शाम को अभिनव मोटरसाइकिल से बदरपुर से अपनी बहन के घर जा रहे थे, जगतपुरी थाने के पास अचानक से वह मांझे की चपेट में आ गए और उनकी गर्दन बुरी तरह से कट गई थी। 

Edited By: Prateek Kumar