नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। वैश्विक महामारी कोरोना से निपटने में देश के डाक्टर करीब दो वर्षों से अग्रिम मोर्चे पर डटे हुए हैं। महामारी नई थी, इससे लडऩे के तरीके से भी सभी अंजान थे। इसके बावजूद अपनी जान की परवाह किए बिना खुद की जान को जोखिम में डालकर और अपने परिवार की परवाह किए बिना डाक्टर पहले दिन से मोर्चे पर डटे हुए हैं। देशभर में 700 से ज्यादा डाक्टर कोरोना मरीजों का इलाज करते हुए संक्रमित होकर अपनी जान भी गंवा चुके हैं। लेकिन, इनके हौसले पस्त नहीं हुए, बल्कि इस जंग में देश को विजयी बनाने का इरादा और मजबूत हुआ है।

इसी इरादे के बल पर कोरोना के करोड़ों मरीज ठीक हुए हैं। कोरोना का टीका बनाने की बात हो या रिकार्ड टीकाकरण के आंकड़े को छूने की, सभी कार्यों में डाक्टरों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। इससे उन्होंने साबित कर दिया है कि इन्हें धरती का भगवान यूं ही नहीं कहा जाता है। दिसंबर के पहले सप्ताह से ही देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन का भी संक्रमण शुरू हो गया है।

इससे भी लडऩे में डाक्टर लगातार डटे हुए हैं। इन्हें नमन करने, उनका उत्साहवर्धन करने के साथ उन्हें यह बताने के लिए कि इस लड़ाई में देश के सभी लोग एकजुटता से उनके साथ खड़े हैं, दैनिक जागरण ने सम्मानित करते हुए उनके प्रति कृतज्ञता ज्ञापित की। ऐसे चिकित्सकों को दैनिक जागरण आयुष्मान इंडिया-2021 अवार्ड से सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर मानव जीवन को बचाने में डाक्टरों के अमूल्य योगदान को न सिर्फ सराहा गया, बल्कि कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में लड़ते हुए जान गंवाने वाले चिकित्सकों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की गई।

बाराखंभा रोड स्थित होटल ललित में आयोजित इस समारोह में मुख्य अतिथि वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे, विशिष्ट अतिथि पश्चिमी दिल्ली के सांसद प्रवेश वर्मा और एम्स आरपी सेंटर के प्रमुख डा. जेएस तितियाल ने चिकित्सा क्षेत्र में अमूल्य योगदान के लिए सर गंगाराम अस्पताल के चेयरमैन पद्मश्री डा. डीएस राणा, मेट्रो ग्रुप आफ हास्पिटल्स के चेयरमैन पद्मविभूषण डा. पुरुषोत्तम लाल, फरीदाबाद स्थित सर्वोदय हेल्थकेयर के चेयरमैन डा. राकेश गुप्ता और गुरुग्राम के मेदांता मेडिसिटी में निदेशक इंटरनल मेडिसिन डाक्टर सुशीला कटारिया को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया। इनके साथ ही एक्सिलेंस इन हेल्थकेयर (डाक्टर) श्रेणी में 15 चिकित्सकों और एक्सिलेंस इन हेल्थकेयर (हास्पिटल) श्रेणी में आठ अस्पतालों को अवार्ड दिया गया।

इस अवसर पर सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए दैनिक जागरण के मुख्य महाप्रबंधक नीतेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि कोरोना काल में चिकित्सकों ने जो सेवा की है वह अमूल्य है। महामारी के बीच सेवा के इस पथ पर दैनिक जागरण मजबूती से उनके साथ खड़ा है। कार्यक्रम के दौरान दैनिक जागरण वाइस प्रेसिडेंट अनुत्तम सेन, एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट रवि कुमार पांडेय और डिजिटल हेड कमलेश रघुवंशी भी उपस्थित रहे।

दैनिक जागरण दिल्ली-एनसीआर के इनपुट हेड सौरभ श्रीवास्तव ने मेहमानों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि एक राष्ट्रवादी अखबार होने के नाते मैं आपको इस मंच से यह विश्वास दिलाता हूं कि भविष्य में कभी भी देश के सामने इस तरह की कोई चुनौती आएगी तो दैनिक जागरण चिकित्सकों और सरकार के साथ मजबूती से खड़ा रहेगा। सम्मान समारोह को सफल बनाने में हेल्दी होम पार्टनर गौर संस, बायजूज, महागुन, आदित्य बिल्डर एंड डेवलपर्स और फेयरफाक्स का सहयोग रहा।

स्पांसर के कोट

  • आयुष्मान इंडिया अवार्ड दैनिक जागरण की एक बहुत सराहनीय पहल है। उन डाक्टरों को सम्मानित किया जा रहा है, जिन्होंने कोरोना से लड़ाई में अमूल्य योगदान दिया है। इस मुहिम में हम दैनिक जागरण के साथ हैं। सिद्धार्थ सूद, मार्केटिंग हेड गौर संस
  • कोरोना महामारी से हमारे डाक्टर आज भी लड़ रहे हैं। ऐसे में उनका हौसला बढ़ाना जरूरी है। डाक्टरों को सम्मानित करके दैनिक जागरण ने इस दिशा में प्रयास किया है। ऐसे कार्य में हम दैनिक जागरण के आगे भी सहयोगी बनते रहेंगे। आशीष अग्रवाल, निदेशक आदित्य बिल्डर्स एंड डेवलपर्स
  • दैनिक जागरण आयुष्मान इंडिया 2021 से सम्मानित डाक्टर व अस्पताल

लाइफ टाइम अचीवमेंट

  • डा. डीएस राणा, चेयरमैन, प्रबंधन बोर्ड, सर गंगाराम अस्पताल
  • डा. पुरुषोत्तम लाल, चेयरमैन, मेट्रो ग्रुप आफ हास्पिटल्स
  • डा. राकेश गुप्ता, चेयरमैन, सर्वोदय अस्पताल, फरीदाबाद
  • डा. सुशीला कटारिया, निदेशक, इंटरनल मेडिसिन, मेदांता मेडिसिटी, गुरुग्राम

एक्सिलेंस इन हेल्थकेयर (डाक्टर) अवार्ड

  • डा. बीपी त्यागी
  • डा. एकता सिंह
  • डा. हिमांशु सिंघल
  • डा. कुणाल बहरानी
  • डा. लोकेश गर्ग
  • डा. मयंक गुप्ता
  • डा. मृणाल शर्मा
  • डा. नवीन भामरी
  • डा. नेहा गुप्ता
  • डा. निर्मेश वर्मा
  • डा. पुनीत आहूजा
  • डा. संजीव बिसला
  • डा. स्वाति राठौर
  • डा. तेजेंद्र सिंह चौहान
  • डा. वीपी सिंह

गौरतलब है कि डा. बीपी त्यागी गाजियाबाद ही नहीं, बल्कि देश-दुनिया में भी उनका नाम गूंजा है। बीपी त्यागी का रिकार्ड बुक में भी नाम दर्ज है। वह ऐसे डाक्टर हैं जो पेशेवर होने के बावजूद मानवीय संवेदनाओं को प्राथमिकता देकर काम करते हैं।  डा. बीपी त्यागी के आरडीसी स्थिति हर्ष अस्पताल पर बोर्ड लगा है कि यहां पर फौज के कार्यरत सैनिकों और उनके परिजनों को कंसलटेशन फीस देने की जरूरत नहीं है क्योंकि वह हमारी फीस बार्डर पर चुका चुके हैं। डा. बीपी त्यागी लॉकडाउन पीरियड में उन लोगों के लिए भगवान साबित हुए जिन्हें प्राइवेट डाक्टरों ने देखने से इनकार कर दिया था।

एक्सिलेंस इन हेल्थकेयर (अस्पताल) अवार्ड

  • फेलिक्स अस्पताल, नोएडा
  • फ्लोर्स अस्पताल, गाजियाबाद
  • मणिपाल अस्पताल, गुरुग्राम
  • नोएडा इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंस
  • आनक्वेस्ट लेबोरेटरीज
  • संतोष अस्पताल, गाजियाबाद
  • एसएसबी हार्ट एंड मल्टीस्पेशलिटी हास्पिटल, फरीदाबाद
  • यशोदा सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, कौशांबी

Edited By: Pradeep Chauhan