नई दिल्ली [धनंजय मिश्रा]। Nupur Sharma News: गत दिनों एक निजी चैनल पर डिबेट के दौरान दो धर्मों के बारे में घृणित बयानबाजी के बाद इंटरनेट मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालकर देश में अशांति फैलाने की कोशिश करने के मामले में दिल्ली पुलिस की साइबर सेल द्वारा भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा से पूछताछ की है। गत दिनों उन्हे जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा गया था। जिसके बाद वह जांच शामिल हुई थीं।

साइबर सेल डीसीपी केपीएस मल्होत्रा का कहना है कि नुपुर शर्मा का विस्तृत बयान दर्ज किया गया है। बता दें कि दिल्ली पुलिस ने आठ जून को एआइएमआइएम के अध्यक्ष व हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी व भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा समेत 32 लोगों के खिलाफ दो अलग-अलग एफआइआर दर्ज की थी।

एक एफआइआर नुपुर शर्मा व दूसरी ओवैसी समेत 31 अन्य के खिलाफ दर्ज की गई थी। पुलिस ने इंटरनेट मीडिया की मानेटरिंग के दौरान सैकड़ों भड़काऊ पोस्ट पर नजर पड़ने पर साइबर सेल ने स्वत: संज्ञान लेते हुए इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

पुलिस का कहना है कि नूपुर शर्मा के बयान के बाद लोगों द्वारा इंटरनेट मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर भड़काऊ पोस्ट डालकर देश का माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर रहे थे। ओवैसी के साथ जिन अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

ये नाम हैं शामिल

उनमें यति नरसिंहानंद, स्वामी जितेंद्रनंद, लक्ष्मण दास, सादाब चौहान, सबा नकवी, हफिजुल हसन अंसारी, बिहारी लाल यादव, इलियास सरफुदीन, मौलाना मुफ्ती नदीम, अब्दुर रहमान, आर विक्रमण, नगमा शेख, डा मोहम्मद करीम तुर्क, अतितुर रहमान खान, शुजा अहमद, विनीता शर्मा, इम्तियाज अहमद, कुमार दिवशंकर, दानिश कुरैशी, अनिल कुमार मीणा, काशिफ, मुहम्मद शाजिद शाहीन, कु सेनसई, गुलजार अंसारी, सैफ एड दिन कुतुज, मौलाना सरफराज, पूजा शाकुन पांडेय, मीनाक्षी चौधरी, मसूद फयाज हासमी शामिल हैं।

Edited By: Geetarjun Gautam