नई दिल्ली, एएनआइ। Coronavirus Positive India: कोरोना वायरस संक्रमण जैसे-जैसे फैल रहा है उस तरह इसके खिलाफ मैदान-ए-जंग में हिम्मत और हौसले के लोग और संस्थाएं भी सामने आ रही हैं। ताजा मामले में भारतीय महिला खो-खो टीम की कप्तान नसरीन शेख की मदद के लिए दिल्ली पुलिस सामने आई है। दरअसल, लॉकडाउन के चलते उनकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो गई थी और उनके घर पर राशन भी खत्म हो गया था। ऐसे में दिल्ली के शकूरपुर में रहने वाली नासरीन ने मदद की गुहार लगाई थी। इसके बाद दिल्ली पुलिस उनके घर पर उन्हें राशन मुहैया कराया।

इससे पहले भारतीय खो-खो महासंघ (केकेएफआई) ने अपनी कप्तान को एक लाख रुपये की मदद मुहैया कराई थी। नसरीन का कहना है कि उनके पिता बर्तन बेचते हैं। इन दिनों लॉकडाउन के चलते हर तरह की गतिविधि ठप है और बाहर नहीं जा पा रहे तो आय के साधन भी नहीं हैं। ऐसे में उनकी आर्थिक हालत काफी खराब हो गई है। 

दिल्ली पुलिस की ओर कहा गया है कि जैसे सूचना मिली हम उनके घर पर पहुंचे। यहां पर वह प्रथम तल पर बने घर पर किराये पर रहती हैं। पुलिस की ओर राशन, मास्क और सैनिटाइजेशन समेत अन्य जरूरी चीजें उपलब्ध करवाई गईं।

जानें- कौन हैं नसरीन

  • नसरीन दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा है और अभी दौलत राम कॉलेज में पढ़ती हैं।
  • वह अपने परिवार के साथ दिल्ली के शकरपुर इलाके में किराये का मकान में रहती थी।
  • उनकी आर्थिक हमेशा खराब रही है और समय-समय पर संस्थान उन्हें मदद मुहैया कराते रहे हैं।
  • एशियाई चैपिनयशिप और दक्षिण एशियाई चैंपियनशिप में प्रथम स्थान पर आई थीं।
  • नसरीन की यह उपलब्धि काफी मायने रखती है कि उन्होंने भारत में  40 खिताब जीते हैं।
  • 2018 में लंदन भी टूर्नामेंट खेल चुकी हैं और देश को गोल्ड दिलाया था।
  • नसरीन  एयरपोर्ट अथॉरिटी के लिए खेलती हैं। यहां से 26,000 रुपये प्रति महीने वेतन मिलता है, लेकिन वह तीन महीनों में आता है।

 नसरीन के मुताबिक, उन्होंने दिल्ली सरकार से कई बार अपील की, लेकिन मदद नहीं मिली। इसी के साथ मैंने ऑनलाइन सोशल मीडिया के जरिये भी मदद के लिए गुहार लगाई।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस