नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]।  पेट्रोल और डीजल के मूल्यों में निरंतर बढ़ोत्तरी के विरोध में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्देश पर पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को पूरी दिल्ली में पेट्रोल पम्पों के सामने प्रदर्शन किए। इनमें कांग्रेस के केन्द्रीय नेतृत्व के वरिष्ठ नेताओं सहित दिल्ली कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने मोदी सरकार के जन विरोधी रवैये के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल होकर अपना रोष प्रकट किया।

दिल्ली गेट, फिरोजशाह कोटला स्टेडियम पेट्रोल पम्प पर प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी, पार्टी महासचिव के.सी. वेणुगोपाल और प्रदेश प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने हिस्सा लिया। कांग्रेस महासचिव मुकुल वासनिक, अजय माकन, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जय प्रकाश अग्रवाल और सुभाष चौपड़ा, हारुन यूसूफ, जय किशन, मुदित अग्रवाल, प्रदेश महिला अध्यक्ष अमृता धवन, जिला अध्यक्ष हरी किशन जिंद सहित ब्लाक अध्यक्ष, अग्रिम संगठनों, सेल व विभागों के पदाधिकारी सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता भी शामिल थे।

राजेंद्र नगर के प्रदर्शन में शामिल पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि पेट्रोल व डीजल पर मोदी व केजरीवाल सरकार टैक्स हटा दे तो दिल्ली में पेट्रोल 55-56 रुपए प्रति लीटर हो जाए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार लोगों की जेब पर डाका डालना बंद करे। वहीं जाकर हुसैन कालेज के समीप स्थित पेट्रोल पम्प पर प्रदर्शन के दौरान जयप्रकाश अग्रवाल ने कहा कि पेट्रोल और डीजल के दामों में वृद्धि के बाद मंहगाई पर तुरंत असर पड़ता है जबकि कोविड महामारी के संकट में आर्थिक तंगी झेल रहे लोग अतिरिक्त मंहगाई के बोझ को सहने की स्थिति में नहीं है। उन्होंने कहा कि केन्द्र व दिल्ली सरकार अप्रत्याशित टैक्सों के द्वारा देश और दिल्ली की जनता को लूट रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप