नई दिल्‍ली, एएनआइ। देश की सबसे सुरक्षित माने जाने वाली जेल तिहाड़ में उस वक्‍त अफरातफरी मच गई जब कैदियों और पुलिस कर्मियों के बीच झड़प हो गई। इस झड़प में करीब 12 लोग घायल हुए हैं। जेल अधिकारी के अनुसार तिहाड़ जेल में उस वक्‍त झड़प हो गई जब एक कैदी अपने बैरक में जाने के लिए तैयार नहीं था। इस काम के लिए उसे उकसा रहे थे।

जेल संख्‍या चार में हुआ बवाल

तिहाड़ जेल संख्या चार में कैदियों ने जमकर बवाल किया। बवाल के दौरान दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई, जिसमें करीब एक दर्जन कैदी घायल हो गए। अधिकांश कैदियों का इलाज जेल के ही अस्पताल में हुआ। दो कैदियों को डीडीयू भेजा गया। जेल प्रशासन के अनुसार डीडीयू अस्पताल से भी घायल कैदी की छुट्टी कर दी गई। बवाल का कारण सेल में बैरक में सेल के अंदर कुछ कैदियों द्वारा जाने से इंकार करना था।

शनिवार की है घटना

जेल प्रशासन के अनुसार यह घटना शनिवार दोपहर की है। बैरक में कुछ कैदियों ने जेलकर्मियों के कहने पर कुछ कैदियों को उनके सेल में जाने के लिए कहा। जिस पर कुछ कैदियों ने सेल में जाने से इंकार कर दिया। इसके बाद दोनों पक्षों में कहासुनी हुई।

आधे घंटे तक रही अफरातफरी

कहासुनी के दौरान ही दोनों पक्ष मारपीट करने लगे। मामला यहां तक बढ़ गया कि सायरन तक बजाना पड़ा। इससे पहले कि मौके पर तमिलनाडु पुलिसकर्मी पहुंचते मारपीट ने गंभीर रूप ले लिया। इस बीच करीब

आधे घंटे तक जेल संख्या चार में अफरातफरी का माहौल रहा। जेल प्रशासन के अनुसार मारपीट की इस घटना में करीब एक दर्जन कैदियों को चोटें आई।

होगी कार्रवाई

जेल अधिकारी का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। इसमें जिस कैदी की भी भूमिका पाई जाएगी उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इसके अंतर्गत कैदी की निजी फाइल में कार्रवाई को दर्ज किया जाएगा। इस कार्रवाई के आधार पर पैरोल मिलने में दिक्कत हो सकती है।

 

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस