नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। पूर्वी दिल्ली स्थित जीटीबी एन्क्लेव स्थित रामलीला मैदान में अस्थायी अस्पताल तैयार हो चुका है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मंगलवार को इसका उद्घाटन करेंगे। सोमवार को मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और राजेंद्र पाल गौतम के साथ जीटीबी एन्क्लेव और लोक नायक अस्पताल के सामने रामलीला मैदान में बन रहे अस्थायी अस्पताल का दौरा किया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि जीटीबी एन्क्लेव के रामलीला ग्राउंड में 500 आइसीयू बेड का अस्थायी अस्पताल तैयार हो चुका है। इसे जीटीबी अस्पताल से जोड़ा गया है। दस दिन में इस अस्पताल को बनाया गया है। यहां करीब 22 मीट्रिक टन ऑक्सीजन खर्च होगी। इसके लिए ऑक्सीजन के टैंकर अस्पताल के बाहर खड़े किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि बहुत जल्द एक हजार से अधिक ऑक्सीजन सिलेंडर सरकार के पास आ जाएंगे। कोरोना की दूसरी के दौरान आइसीयू बेड की बहुत ज्यादा कमी रही है। इसे देखते हुए यह अस्पताल तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि लोक नायक अस्पताल के सामने रामलीला मैदान में तैयार हो रहा 500 बेड का अस्थायी अस्पताल अस्पताल दो से तीन दिन में शुरू हो जाएगा। इन दोनों अस्पतालों के शुरू होने के बाद राजधानी में आइसीयू बेड की कमी नहीं रहे रहेगी।

आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर, स्वास्थ के बुनियादी ढांचे को और बढ़ाना पड़ेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजधानी में कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना को देखते हुए स्वास्थ के बुनियादी ढांचे को और बढ़ाना होगा। अधिक केस आने की वजह से स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर तनाव में आ गया था, लेकिन सरकार अब अब ऐसा इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कर रही है कि अगर तीसरी लहर में 30 हजार केस भी आते हैं, तब भी सरकार संभाल लेगी।

नहीं बरती जाएगी किसी तरह की ढिलाई

मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि कोरोना का पीक निकल चुका है और आने वाले कुछ दिनों में राजधानी में कोरोना के मामले कम होंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के नाते वह किसी तरह की ढिलाई नहीं होने देंगे।