नई दिल्ली, जेएनएन। कैट्स एंबुलेंस के अनुबंधित कर्मचारियों के बकाये वेतन के भुगतान के लिए दिल्ली सरकार तैयार हो गई है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सात दिन में बकाया वेतन जारी करने का निर्देश दिया है। आश्वासन मिलने के बाद कैट्स एंबुलेंस के अनुबंधित कर्मचारियों ने शुक्रवार को हड़ताल वापस ले ली। श्रम मंत्री गोपाल राय ने उन्हें खीर खिलाकर हड़ताल खत्म करवाई। ऐसे में एंबुलेंस सेवा जल्द सामान्य होने की उम्मीद है।

1 जुलाई से हड़ताल पर थे कर्मचारी

एंबुलेंस का निजीकरण रद करने व बकाया वेतन भुगतान की मांग को लेकर कर्मचारी एक जुलाई से ही हड़ताल पर थे। सरकार ने जुलाई 2016 से कैट्स एंबुलेंस के संचालन व रखरखाव की जिम्मेदारी निजी हाथों को दी थी। बीवीजी-यूकेएसएएस ईएमएस नामक कंपनी को परिचालन की जिम्मेदारी दी गई थी। इसने करीब 1100 कर्मचारियों को अनुबंध पर नियुक्त किया था। इसके साथ ही कैट्स एंबुलेंस सेवा द्वारा अनुबंध पर नियुक्त करीब 430 कर्मचारी भी कार्यरत थे, जिनका वेतन भुगतान कैट्स कर रहा था, लेकिन इनके अनुबंध का नवीनीकरण नहीं हुआ था।

30 जून को खत्‍म हुआ अनुबंध

इसी बीच 30 जून को संचालक कंपनी का कैट्स से अनुबंध खत्म हो गया और एक जुलाई से संचालन की जिम्मेदारी दूसरी कंपनी ने संभाल ली। कर्मचारियों का आरोप था कि पुरानी कंपनी सभी 1100 कर्मचारियों को तीन माह का वेतन दिए बगैर चली गई थी जबकि नई कंपनी के साथ उनका अनुबंध भी नहीं हुआ था। इसलिए उनकी नौकरी भी खतरे में थी। इस वजह से वे हड़ताल पर चले गए थे। इससे ढाई माह से कैट्स एंबुलेंस का परिचालन प्रभावित है। कैट्स एंबुलेंस सेवा के बेड़े में 263 एंबुलेंस हैं जिनमें से 60 से 80 एंबुलेंस ही सड़कों पर उतर पा रही थीं।

सत्‍येंद्र जैन और गोपाल राय ने की बैठक

11 सितंबर को सत्येंद्र जैन व गोपाल राय ने हड़ताली कर्मचारियों के प्रतिनिधियों व अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें यह बात सामने आई कि कर्मचारियों का दो माह 10 दिन का वेतन बकाया है। इस बैठक में यह तय हुआ कि स्वास्थ्य विभाग कर्मचारियों का प्रमुख नियोक्ता है। इसलिए स्वास्थ्य मंत्री ने सात दिन में बकाया वेतन जारी करने का निर्देश दिया है।

बरकरार रहेगी पहले की स्‍थिति

कैट्स एंबुलेंस सेवा के कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारी नरेंद्र लाकड़ा ने कहा कि सरकार ने यह आदेश भी दिया है कि एक जुलाई के पहले विभाग में अनुबंधित कर्मचारियों की जो स्थिति थी, वह बरकरार रहेगी। अर्थात कैट्स द्वारा नियुक्त अनुबंधित कर्मचारी विभाग के ही कर्मी होंगे। इसके अलावा पुरानी कंपनी द्वारा नियुक्त 1100 कर्मचारियों को भी नियुक्त किया जाएगा। नियुक्ति होते ही वे ड्यूटी पर लौट आएंगे।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप