नई दिल्ली [शुजाउद्दीन]। उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने शास्त्री पार्क में एक घर पर छापा मारकर स्मैक की तस्करी करने वाले देवर-भाभी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके घर से 618 ग्राम स्मैक व एक टिफिन के अंदर छिपाकर रखे गए 5.87 लाख रुपये बरामद किए हैं। पकड़े गए आरोपितों की पहचान मासूम शेख व इसकी 35 वर्षीय भाभी के रूप में हुई है। महिला का पति सलाऊद्दीन फरार है।

उसकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। जिला पुलिस उपायुक्त संजय कुमार सैन ने बताया कि जिले के एएटीएस टीम को गुप्त सूचना मिली थी कि शास्त्री पार्क स्थित डीडीए के एक फ्लैट में स्मैक की तस्करी हो रही है। एसआइ बलबीर के नेतृत्व में हेड कांस्टेबल पवित व विपिन की टीम बनाई। मंगलवार शाम को टीम फ्लैट पर पहुंची, काफी देर तक दरवाजा खटखटाने के बाद फ्लैट मालिक के भाई मासूम शेख ने दरवाजा खोला।

पुलिस ने तलाशी लेने के लिए अंदर गई तो मासूम की भाभी ने पुलिस को देखते ही अपने कमरे का दरवाजा बंद कर लिया। पुलिस ने किसी तरह से कमरे का दरवाजा खुलवाया और जांच की। इस दौरान पुलिस को कमरे से स्मैक मिली। एक टिफिन की तलाशी ली तो उसके अंदर से 5.87 लाख रुपये मिले। पुलिस ने देवर-भाभी से जब रुपयों के बारे में पूछताछ की तो दोनों ने कोई जवाब नहीं दे सके। पूछताछ में पता चला कि महिला अपने पति व देवर के साथ मिलकर स्मैक की तस्करी करती है। 

उधर, कार्य में लापरवाही और शिथिलता बरतने के मामले में सेक्टर-54 चौकी प्रभारी अमित कुमार समेत तीन पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया गया है। बुधवार देर रात डीसीपी नोएडा की ओर से यह आदेश जारी किया गया है। एडिशनल डीसीपी आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि तीनों के खिलाफ कार्य में लापरवाही बरतने की शिकायत मिली थी, जांच में ये बातें सही पाई गईं।

इसके बाद सेक्टर-24 कोतवाली क्षेत्र स्थित सेक्टर-54 के चौकी प्रभारी अमित कुमार और हेड कांस्टेबल रामबाबू शुक्ला को लाइन हाजिर किया गया है। साथ ही सेक्टर 24 में तैनात सब इंस्पेक्टर सौरभ दुबे को भी लाइन हाजिर कर दिया गया है।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट