नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। देश की राजधानी दिल्ली में 31 मई से शुरू की जा रही अनलॉक प्रक्रिया में व्यापारियों को कोई राहत नहीं देने पर मुख्य विपक्षी दल भारती जनता पार्टी ने गहरी नाराजगी जताई है। दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने उपराज्यपाल अनिल बैजल से इस मामले में हस्तक्षेप कर व्यापारियों को राहत दिलाने की मांग की है।

भाजपा के विधायक रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि कोरोना नियमों के पालन के साथ सीमित समय के लिए बाजार खोलने की अनुमति मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली के लाखों व्यापारी कोरोना संकट के दौर में करीब दो महीने से अपना कामधंधा बंद कर घर में बैठे हुए हैं। व्यापारियों का कामधंधा बंद है लेकिन वह अपने कर्मचारियों को वेतन दे रहे हैं। सरकार द्वारा भी उन्हें कोई राहत नहीं दी गई है। उनसे स्थायी शुल्क के साथ बिजली के बिल वसूले जा रहे हैं। वे पानी के बिल और संपत्ति कर का भी भुगतान कर रहे हैं। इसके बावजूद व्यापारी संकट काल में सरकार के साथ खड़े हैं।

 रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि कोरोना के मामलों में कमी आने के बाद अब जब राहत का व़क्त आया है तो दिल्ली सरकार उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के बाजारों के साथ व्यापारी व उनके कर्मचारियों के साथ सफाई कर्मचारी, माल ढोने वाले, ठेले वाले सहित कई लोगों की रोजी-रोटी जुड़ी हुई है, इसलिए सरकार को इनके हित में फैसला करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि थोक बाजारों को दोपहर 12 से शाम 4 बजे तक और खुदरा बाजार को सुबह 10 से शाम 5 बजे तक खोलने की अनुमति दी जानी चाहिए। मार्केट एसोसिएशन को कोरोना से बचाव के नियमों का पालन कराने की जिम्मेदारी दी जानी चाहिए।  

Edited By: Jp Yadav