नई दिल्ली, एएनआइ। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुसीबतें एक बार फिर बढ़ती दिखाई दे रही हैं। भाजपा नेता राजीव बब्बर ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में केजरीवाल और अन्य के खिलाफ मानहानि की याचिका दायर की है। राजीव बब्बर ने यह केस दिल्ली भाजपा की तरफ से फाइल किया है। कोर्ट में दायर याचिका के मुताबिक, केजरीवाल ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि उसने दिल्ली में मतदाता सूची से अग्रवाल मतदाताओं के नाम काटवा दिए हैं। दिल्ली भाजपा का कहना है कि केजरीवाल एक संवैधानिक पद पर रहते हुए जो टिप्पणी की है उससे पार्टी की छवि खराब हुई है।

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आठ दिसंबर 2018 को ट्वीट कर दावा किया था कि, अग्रवाल समाज के दिल्ली में कुल आठ लाख वोट हैं। उनमें से लगभग चार लाख भाजपा ने वोट कटवा दिए? यानि 50 फीसद। आज तक यह समाज भाजपा का कट्टर वोटर था। इस बार नोटबंदी और GST की वजह से ये नाराज हैं, तो भाजपा ने इनके वोट ही कटवा दिए? बेहद शर्मनाक।

केजरीवाल के इस ट्वीट के बाद काफी हंगामा मच गया था। चुनाव आयोग से भी आम आदमी पार्टी के नेताओं ने इस मामले की शिकायत की थी। आयोग ने केजरीवाल के इस आरोप को खारिज कर दिया था। भाजपा नेताओं ने भी आम आदमी पार्टी के इस आरोप को सिरे से नकार दिया था। 

आप नेता आतिशी ने कहा था कि कई जिंदा लोगों को भी मृत दिखा दिया गया है। उन्होंने कहा था कि चुनाव आयोग द्वारा यह सब भाजपा को लाभ पहुंचाने के लिए किया जा रहा है। उनका आरोप था कि दिल्ली के नए फार्म नहीं लिए जा रहे हैं। आतिशी ने दावा किया कि पूर्वी दिल्ली लोकसभा के अंतर्गत आने वाले विधानसभा क्षेत्रों में जिनके नाम काटे गए हैं उनमें ज्यादातक लोग बनिया, मुस्लिम और पूर्वांचल समाज के हैं।

उधर, कोंडली से आप विधायक मनोज कुमार ने कहा था कि पूर्वी दिल्ली लोकसभा की 10 विधानसभाओं में सबसे ज्यादा लगभग 61 हजार वोट कोंडली विधानसभा से काटा गया है। उन्होंने कहा था कि बाबा भीमराव अंबेडकर ने संविधान में सभी नागरिकों को मताधिकार दिया है। मगर भाजपा लोगों से उनका संवैधानिक अधिकार छीनना चाहती है।

 दिल्ली-एनसीआर की महत्वपूर्ण खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस