नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क।  Lalu Yadav Health News Update : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव का दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में इलाज जारी है। इस बीच एम्स ने लालू यादव के स्वास्थ्य को लेकर कोई मेडिकल बुलेटिन जारी नहीं किया है, जिससे उनके स्वास्थ्य को लेकर कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल रही है। 

जागरण संवाददाता राहुल चौहान के मुताबिक, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव एम्स के कार्डियक आइसीयू में भर्ती है। इस बीच यह भी खबर आ रही है कि बृहस्पतिवार दोपहर बाद एम्स प्रशासन उनके इलाज के लिए मेडिकल बोर्ड गठित करेगा। 

मिली जानकारी के मुताबिक, पटना से लाकर दिल्ली एम्स में भर्ती लालू प्रसाद यादव का फिलहाल इलाज कार्डियोलाजी विभाग के प्रोफेसर डा. राकेश यादव के नेतृत्व में चल रहा है।

लालू की हालत नाजुक

इस बीच मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से यह भी खबर आ रही है कि दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती लालू प्रसाद यादव की हालत काफी नाचुक है। गर्दन के नीचे का हिस्सा हिल डुल नहीं रहा है। लालू यादव के छोटे बेटे और राजद विधायक तेजस्वी यादव ने बताया कि सीड़ियों से गिरने के वजह से लालूजी को शरीर में तीन फ्रैक्चर हुए। इसके बाद उनकी हालत बिगड़ गई। 

डायलिसिस पर जा सकते हैं लालू प्रसाद

बताया जा रहा है कि एम्स में भर्ती लालू यादव की हालत नाजुक है। उनके शरीर में टाक्सिन की मात्रा लगातार बढ़ रही है। किडनी की बीमारी से जूझ रहे लालू यादव का क्रिएटनिन लेवल 4 से 7 पहुंच गया है। जाहिर ऐसी स्थिति में डायलिसिस की आवश्यकता पड़ती है। किडनी के सही ढंग से काम नहीं करने के कारण ब्लड यूरिया लगातार बढ़ रहा है। बताया जा रहा है कि उनके शरीर में मूवमेंट नहीं हो रहा है।

लालू यादव की तबीयत बेहद बिगड़ गई है। देर रात उन्हें पटना से दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया। यहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। तेजस्वी यादव ने बताया, 'उनका पूरा चेकअप किया जाएगा। उसके बाद इलाज शुरू होगा। फिलहाल बॉडी में मूवमेंट नहीं हो पा रहा है।'

किसी व्यक्ति की किडनी जब अपनी पूरी से बहुत कम काम करती है तो ऐसी स्थिति में अपोहन (डायलिसिस) रक्त शोधन की एक कृत्रिम विधि की जाती है। इस डायलिसिस की प्रक्रिया को तब अपनाया जाता है जब किसी व्यक्ति किडनी सही से काम नहीं कर रही होती है। किड़नी से से जुड़े रोगों, लंबे समय से मधुमेह के रोगी, उच्च रक्तचाप जैसी स्थितियों में कई बार डायलसिस की आवश्यकता पड़ती है।

इस प्रक्रिया में डायलिसिस के जरिये किडनी पीड़ित मरीज के खून को साफ दोबारा शरीर में डाला जाता है। यह एक मशीन के जरिये किया जाता है, जिसे डायलिसिस मशीन कहा जाता है। 

20 प्रतिशत किडनी ही काम कर रही है लालू प्रसाद यादव की

गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों से लालू प्रसाद यादव का स्वास्थ्य खराब चल रहा है। सूत्रों के मुताबिक, लालू यादव की किडनी 20 प्रतिशत ही काम कर रही है। ऐसी स्थिति में किएटनिन केसाथ शरीर में ब्लड यूरिया भी बढ़ जाता है। 

Edited By: Jp Yadav