नई दिल्ली [गौतम कुमार मिश्रा]। द्वारका जिला पुलिस के वाहन चोरी निरोधक दस्ते ने दिल्ली में बदमाशों को अवैध हथियार की आपूर्ति करने के आरोप में निखिल व नदीम नामक दो शख्स को गिरफ्तार किया है। निखिल हिमाचल प्रदेश के चंबा जिला के चौआरी थाना स्थित तनुहट्टी गांव का रहने वाला है। निखिल बनीखेत स्थित डीएवी कालेज से बीबीए की पढ़ाई कर रहा है। इन दिनों यह बिंदापुर इलाके में रह रहा था। दूसरा आरोपित नदीम एसी मैकेनिक का काम करता है। निखिल के पास से दो पिस्टल व चार कारतूस व नदीम के पास से दो पिस्टल व दो कारतूस पुलिस ने बरामद किए हैं।

पुलिस ने निखिल को तब दबोचा जब वह बिंदापुर में हथियार की खेप लेकर किसी को सौंपने आया हुआ था। गुप्त सूचना के आधार पर पहले से ही इंस्पेक्टर राम किशन के नेतृत्व में पुलिस टीम सतर्क थी। निखिल पिछले दो वर्षों से अवैध हथियार की दिल्ली में आपूर्ति कर रहा था। दिल्ली से पहले वह पंजाब के लुधियाना व अन्य स्थानों पर अवैध हथियार बेच चुका है। उसे पंजाब पुलिस ने इन मामलों में गिरफ्तार किया था।

पानीपत निवासी सरफराज के कहने पर दो महीने पहले वह दिल्ली आकर रहने लगा ताकि यहां वह पुलिस की पकड़ से बचा रहे। बिंदापुर इलाके में उसने किराए पर कमरा लिया और सरफराज के कहे अनुसार वह यहां दिल्ली में अवैध हथियार की आपूर्ति करने लगा। हाल ही में इसने नदीम को दो पिस्टल दिए थे। पुलिस ने इस जानकारी के बाद नदीम को भी दबोच लिया। अब पुलिस सरफराज की तलाश में जुटी है।

पूछताछ में निखिल से पुलिस को पता चला कि फेसबुक पर उसकी मुलाकात सरफराज से हुई। बातों ही बातों में उसने सरफराज को बताया कि वह काफी रुपये कमाना चाहता है। तब सरफराज ने उसे अवैध हथियार के धंधे में शामिल कर लिया। सरफराज के कहने पर उसने पहले हिमाचल प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में अवैध हथियार की आपूर्ति का काम शुरू किया। इसके बाद उसने यही काम पंजाब में शुरू किया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप