नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के बीच भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस लगातार आम आदमी पार्टी सरकार पर हमलावर हैं। इस कड़ी में पूर्व दिल्ली लोकसभा सीट से पूर्व सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित ने कोरोना संकट को लेकर अरविंद केजरीवाल सरकार पर हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की है। मंगलवार को एक वीडियो संदेश जारी करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार पर दिल्ली को एक मजबूत स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली नहीं देने के लिए हत्या का मामला चलाया जाना चाहिए।

उन्होंने दावा किया कि शीला दीक्षित की सरकार ने दिल्ली के अस्पतालों में बेड की संख्या चार हजार से बढ़ाकर 11 हजार कर दी थी, लेकिन केजरीवाल सरकार के कार्यकाल में कोई बेड नहीं जोड़ा गया। अरविंद केजरीवाल हर बात के लिए केंद्र सरकार को दोषी ठहराते हैं, लेकिन अपने गिरेबां में नहीं देखते कि खुद क्या कर रहे हैं? केंद्र सरकार ने जो 8 ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए फंड जारी किया, उसका कहां इस्तेमाल हुआ केजरीवाल सरकार बताए?

उन्होंने उल्लेख किया कि कैसे आइटीबीपी और डीआरडीओ ने बहुत कम समय में अस्पतालों की स्थापना की है, लेकिन दिल्ली सरकार ऐसा क्यों नहीं कर पाई। उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल ने अपना समय और देश का पैसा प्रचार में बर्बाद किया है।

संदीप दीक्षित ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी संकट के समय में दिल्ली पर पर्याप्त ध्यान नहीं देने का अरोप लगाते हुए कहा कि जब राहुल गांधी को पता था कि कोरोना की सुनामी आ रही है तो पीएम मोदी और उनकी सरकार को इसकी भनक क्यों नहीं लगी। अगर इससे निपटने की पूर्व तैयारी कर ली गई होती तो हालात इतने खराब नहीं होते।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप