नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Cyber Crime in Delhi:  दक्षिणी दिल्ली जिले की साइबर सेल की टीम ने कई लोग से एक करोड़ से अधिक की ठगी करने वाले जालसाज को गिरफ्तार किया है। आरोपित ने एक सेवानिवृत्त राजनयिक को भी ठगा था। वह फर्जी, नाम पते पर बैंक खाता खुलवाने के बाद ठगी की रकम दूसरे बैंक खाते में ट्रांसफर करवा लेता था। आरोपित की पहचान शाहीन बाग निवासी मोहम्मद अकरम के रूप में हुई है। उससे 16 एटीएम कार्ड, 32 चेकबुक, 25 पासबुक, मोबाइल फोन व अन्य सामान बरामद किया गया है।

पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि आरोपित ने एक सेवानिवृत्त राजनयिक समेत कई लोग से एक करोड़ से अधिक की ठगी कर चुका है। इस गिरोह ने उनके हॉटमेल अकाउंट को हैक कर उनके ई-मेल के माध्यम से उनके जानकारों से सम्पर्क किया और रुपये की जरूरत की बात कहकर मदद मांगी। उसने ऐसा करके करीब डेढ़ लाख रुपये ऐंठ लिए। शिकायत मिलने पर साइबर सेल ने बैंक खाता व मोबाइल नंबर के आधार पर जांच शुरू की तो पता चला कि सभी बैंक खाते फर्जी पते पर खोले गए थे।

पुलिस ने तकनीकी सर्विलांस और मुखबिरों की मदद से आरोपित मोहम्मद अकरम की पहचान कर उसे गिरफ्तार किया। उसने बताया कि वह गरीब और कम पढ़े-लिखे मजदूर वर्ग के लोग को थोड़े रुपये का लालच देकर उनके नाम से विभिन्न बैंकों में खाता खुलवा देता था। बाद में उसका पता बदलवाकर उस बैंक खाते पर कब्जा कर लेता था। फिर उसके जरिये ठगी की रकम की हेराफेरी करता था। उसने बताया कि उसके गैंग ने कानपुर के कारोबारी से करीब 70 लाख रुपये ऐंठ लिए थे। पहले वह हकीम का काम करता था। वह सिर्फ 10वीं तक पढ़ा है, लेकिन 2017 में एक अन्य आरोपित अनीस के संपर्क में आया था और तबसे ही ठगी का रैकेट चलाने लगा।