नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। पंजाब और हरियाणा में जलाई जा रही पराली के धुंए से दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण में लगातार इजाफा हो रहा है। वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) के मुताबिक, दिल्ली के लोधी रोड इलाके में सोमवार को पीएम 2.5 का स्तर 261 तो पीएम 10 का स्तर 249 रहा, जो स्वास्थ्य के लिहाज से खराब है।

इससे पहले बृहस्पतिवार को दिन भर दिल्ली -एनसीआर में स्मॉग की परत छाई रही। शुक्रवार को प्रदूषण की स्थिति और भी बिगड़ने के आसार हैं। शनिवार से अगर हवा की गति कुछ बढ़ी तो ही थोड़ा बहुत सुधार होने की संभावना है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के एयर बुलेटिन के अनुसार बृहस्पतिवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 366 रहा। एक दिन पहले की तुलना में इसमें 65 अंकों की बढ़ोतरी हुई है। बुधवार को यह इंडेक्स 301 था। शाम छह बजे हवा में पीएम 10 कणों की मात्र 352 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर और पीएम 2.5 कणों की मात्र 205 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर रही। गाजियाबाद का एयर इंडेक्स 416, नोएडा में 402, ग्रेटर नोएडा में 400, फरीदाबाद में 390 और गुरुग्राम में 280 रहा।

जानकारी के मुताबिक इस बार भी हवा में प्रदूषण की मुख्य वजह पीएम 2.5 ही है जो तय मानकों से तीन से चार गुना तक अधिक दर्ज किया जा रहा है। दरअसल, बीते 24 घंटों में ज्यादातर समय हवा शांत रही है। दिन में साढ़े ग्यारह बजे से लेकर साढ़े पांच बजे तक हवा ने थोड़ी रफ्तार पकड़ी थी, लेकिन इस दौरान भी हवा की रफ्तार छह किलोमीटर प्रति घंटे तक ही रही। इसके चलते हवा में मिले प्रदूषक कणों का बिखराव बेहद धीमा हो गया है। वहीं बादल भी देखने को मिल रहे हैं। जिसकी वजह से प्रदूषण बढ़ रहा है।

सफर के अनुसार शुक्रवार को राजधानी में प्रदूषण का स्तर गंभीर रह सकता है। शनिवार की दोपहर से स्थिति में सुधार होने की संभावना है। दूसरी तरफ हवा में पराली के धुएं का असर अब भी बना हुआ है। बृहस्पतिवार को प्रदूषण में पराली के धुएं की हिस्सेदारी पांच फीसद रही। सफर का अनुमान है कि पराली जलाने की घटनाएं तो ज्यादा हो रही है लेकिन हवा की दिशा अलग होने और गति बहुत सुस्त होने से अभी पराली का धुआं दिल्ली की ओर कम आ रहा है। शुक्रवार को यह चार फीसद तक प्रदूषित करेगा।

हरियाणा में तमाम जतन के बाद भी नहीं रुक रहा पराली जलाना

आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने पराली जलाने वाले किसानों का समर्थन किया है। इसे लेकर दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री को अपनी पार्टी के सांसद द्वारा उठाए गए सवालों का जवाब देना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदूषण के मुख्य कारणों से केजरीवाल दिल्ली के लोगों को भटकाने की कोशिश कर रहे हैं। वह किसानों पर सारा दोष डालकर अपनी नाकामियों को छिपाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भगवंत मान की तरह आम आदमी पार्टी के अन्य नेता व कार्यकर्ता भी यह मानते है कि दिल्ली में प्रदूषण का मुख्य कारण पराली नहीं है, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री इस बात को मानने को तैयार ही नहीं है।

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप