Move to Jagran APP

AAP के 'मोदी हटाओ देश बचाओ' अभियान का आगाज; केजरीवाल बोले- अगर मोदी जी पढ़े लिखे होते तो नहीं होती नोटबंदी

स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह राजगुरु और सुखदेव के बलिदान दिवस पर आम आदमी पार्टी ने मोदी हटाओ देश बचाओ अभियान का आगाज किया है। इसे लेकर जंतर-मंतर पर पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जनसभा को संबोधित करने पहुंचे है।

By sanjeev GuptaEdited By: Abhi MalviyaPublished: Thu, 23 Mar 2023 04:23 PM (IST)Updated: Thu, 23 Mar 2023 04:54 PM (IST)
मोदी हटाओ देश बचाओं अभियान की आम आदमी पार्टी ने की शरुआत।

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के बलिदान दिवस पर आम आदमी पार्टी ने 'मोदी हटाओ, देश बचाओ' अभियान का आगाज किया है। इसे लेकर जंतर-मंतर पर पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जनसभा को संबोधित करने पहुंचे है। केजरीवाल के साथ-साथ पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान भी मौजूद है। पार्टी के प्रदेश संयोजक गोपाल राय, मंत्री आतिशी, विधानसभा उपाध्यक्ष राखी बिड़ला और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह भी मौजूद है।

loksabha election banner

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा ''आज तीन महान हस्तियों का शहादत दिवस है। मैं सोचकर हैरान होता हूं कि फांसी पर चढ़ना कितना मुश्किल हाेता है। एक छोटी सी चींटी भी काट जाए तो कितना दर्द होता है।उनके मन में कैसा जज्बा रहा होगा। एक सुनहरे भारत का सपना रहा होगा। भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, सुभाष चंद्र बोस और चंद्रशेखर आजाद ने भी अंग्रेजाें के खिलाफ खूब पोस्टर लगाए थे, लेकिन उन पर कोई FIR नहीं की गई थी।'' उन्होंने सोचा भी न होगा कि 100 साल बाद इस देश में एक ऐसा प्रधानमंत्री आएगा जो 24 घंटे में इस जुर्म के लिए 138 एफआइआर दर्ज करवा देंगे। क्या उनकी तबीयत ठीक है, इतने शक्तिशाली प्रधानमंत्री हैं तो उन्हें इतना डर किस बात का है कि एक प्रिंटर से भिड़े पड़े हैं, छह गरीब लोग गिरफ्तार कर रखे हैं।''

उन्होंने आगे कहा, ''मोदी जी, ईमानदारी सीखनी है तो आम आदमी पार्टी से सीखो। वरना भ्रष्टाचार की बातें आपके मुंह से अच्छी नहीं लगती। हम लोग आठ साल से भगत सिंह के सिद्धांतों पर सरकार चला रहे हैं। मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री का पढ़ा लिखा होना बहुत जरूरी है। अधिकारी बहुत ही चतुराई से पाठ पढ़ा जाते हैं। अगर पढ़े लिखे नहीं होंगे तो सरकार चला ही नहीं पाएंगे। अगर प्रधानमंत्री पढ़े लिखे होते तो नोटबंदी नहीं होती। देश 10 साल पीछे नहीं जाता। जीएसटी भी जिस तरह से लागू किया गया, आज हर कोई छाती पीटकर रो रहा है।''

उन्होंने आगे कहा, ''प्रधानमंत्री पढ़े लिखे होते तो तीन काले कृषि कानून नहीं लाते। देश में 60 हजार सरकारी स्कूल बंद हो गए। यह भी इसीलिए हुआ क्योंकेि प्रधानमंत्री पढ़े लिखे नहीं है। पढ़े लिखे होते तो उन्हें शिक्षा का महत्व पता होता।''

भगवंत मान ने कहा, ''भाजपा धर्म के नाम पर लोगों को बांटती है, हम यह नहीं करते। अरविंद केजरीवाल स्कूल और मोहल्ला क्लीनिक बनाते हैं। पानी- बिजली मुफ्त करते हैं। हमने पंजाब में भी यह सब कर दिखाया है। आम आदमी पार्टी विकास की राजनीति करती है। प्रधानमंत्री को एक तरह की बीमारी है कि हर जगह उनका नाम आए। कांग्रेस बात गरीबी हटाने की बात करती थी। एक आदमी रेलवे स्टेशन पर चाय बेचता था, अब उसने रेल के डिब्बे ही बेच दिए। ''

जंतर-मंतर पर संजय सिंह ने अपने वक्तव्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अदाणी घोटाले का जनक बताया है। उन्होंने कहा, ''मोदी के खिलाफ पोस्टर लगाने वालों को गिरफ्तार कर भले ही कितनी FIR दर्ज कर ली जाए, लेकिन आम आदमी पार्टी के प्रति जनता का प्यार कम नहीं होगा।''

वहीं, इस मौके पर गोपाल राय ने कहा कि 30 मार्च को देश के कोने-कोने में मोदी हटाओ, देश बचाओ के पोस्टर लगाए जाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा, ''ये लोग चाहे कितनी एफआइआर कर लें, चाहें कितनों को जेल में डाल दें, लेकिन अब हर जगह से यही मोदी को हटाने की आवाज ही उठेगी और यह आवाज अब दबेगी नहीं। 

गोपाल राय ने कहा कि मोदी के रहते हुए देश का संविधान सुरक्षित नहीं है। साथ ही किसान और आम जनता के हित भी मोदी के रहते हुए सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि देश का लोकतंत्र भी खतरे में है। इसलिए पीएम मोदी को हटाकर देश को बचाया जा सकता है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.