नई दिल्ली [जेएनएन]। एक तरफ आम आदमी पार्टी 'आप' 14 फरवरी को दिल्ली में सरकार गठन की तीसरी वर्षगांठ मना रही है, वहीं विपक्ष ने भी हमले तेज कर दिए हैं। केजरीवाल सरकार के तीन साल होने पर कांग्रेस ने पोल खोल अभियान के तहत प्रदेश कांग्रेस में महिला मोर्चा की अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी ने केजरीवाल सरकार को महिला सुरक्षा के मुद्दे पर नाकाम सरकार बताया है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन साल में केजरीवाल सरकार में कोई महिला किसी मंत्री पद पर नहीं रही। महिला और बाल कल्याण मंत्री के सेक्स स्कैंडल में फंसने के बाद इस पर कोई मंत्री नहीं आया। यही नहीं पंजाब चुनाव मेंं भी इनके नेताओं पर यौन प्रताड़ना के आरोप लगे थे।

महिला सुरक्षा पर उठे सवाल 

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने उक्त बातें मंगलवार को आयोजित प्रेसवार्ता में कहीं। उन्होंने कहा कि लैंगिक संवेदनशीलता को लेकर लोगों को जागरूक करने वाले 103 जेंडर रिसोर्स सेंटर बंद है। इसके अलावा एक्सटेंशन सेंटर, बेघरों के पांच सेंटर, 43 आवाज उठाओ सेंटर भी बंद है। 181 हेल्पलाइन भी कारगर नहीं है। निर्भया फंड के लिए दिल्ली सरकार ने एक भी आवेदन नहीं दिया। 2016-17 में घरेलू हिंसा के 6,100 मामले आए हैं, जबकि मात्र 224 महिलाओं को सरकार ने कानूनी सहायता उपलब्ध कराई है। सभी बसों में अब तक सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं।

'आप' सरकार ने एक नई ईंट तक नहीं लगाई

गौरतलब है कि दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन पहले ही कह चुके हैं कि पिछले तीन साल में दिल्ली में एक भी विकास कार्य नहीं हुए। कांग्रेस ने दिल्ली में अपने 15 वर्ष के कार्यकाल में जो विकास के कार्य किए थे, उसके आगे 'आप' सरकार ने एक नई ईंट तक नहीं लगाई है। सिर्फ कांग्रेस के कार्यकाल में शुरू हुई योजनाओं का ही उद्घाटन कर रही है। उन्होंने कहा था कि दिल्ली में लगातार बढ़ते प्रदूषण, कई किलोमीटर लगने वाले जाम, टूटी सड़कें, डेंगू और चिकनगुनिया से मरते लोग और अस्पतालों की जर्जर हालत ही 'आप' सरकार की उपलब्धि है।

विरोधियों ने दागे तीखे सवाल 

दिल्ली में विकास पूरी तरह ठप

दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल सरकार में फैले भ्रष्टाचार की वजह से दिल्ली तीन वर्षों में 30 साल पीछे चली गई है। दिल्ली वाले इस सरकार को शहरी नक्सलवादियों की सरकार के तौर पर देखती है। दिल्ली में विकास पूरी तरह ठप है, मंत्रियों व विधायकों की अराजकता व भ्रष्टाचार से लोग त्रस्त हैं। 

दिल्ली का बुरा हाल

दिल्ली विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार ने तीन साल में दिल्ली का बुरा हाल कर दिया है। भ्रष्टाचार, नकली डिग्री, महिला यौन शोषण व लाभ के पद के कारण सरकार के छह में से पांच मंत्री हट चुके हैं। अन्य मंत्री व विधायकों पर भी भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं। 'आप' के 67 में से अब सिर्फ 42 विधायक रह गए हैं।  

महिला सुरक्षा पर जवाब दे 'आप'

स्वराज इंडिया के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने कहा कि केजरीवाल सरकार तीन साल में महिला सुरक्षा पर पूरी तरह से विफल रही है। महिला सुरक्षा को लेकर आंदोलन करने वाली पार्टी की सरकार में महिलाएं असुरक्षित हैं। सरकार को बताना चाहिए कि महिला सुरक्षा दल बनाने, बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने, डीटीसी में मार्शल की तैनाती और लास्ट माइल कनेक्टिविटी के वादे पूरे करने के लिए क्या किया है।   

यह भी पढ़ें: दिल्ली में 'आप' के तीन साल, जानें- क्या है आम आदमी का हाल

यह भी पढ़ें: अश्लील CD से फर्जी डिग्री तक, 3 साल तक दागदार होता रहा केजरीवाल सरकार का दामन

By Amit Mishra