Move to Jagran APP

Delhi Challan: दिल्ली में इन वाहनों का धड़ाधड़ कट रहा चालान, आप ना करें ऐसी गलती

दोषपूर्ण नंबर प्लेट वाले वाहनों के खिलाफ तेज हुई कार्रवाई न केवल अभियोजन में वृद्धि की व्यापकता को दर्शाता है बल्कि सड़क सुरक्षा बढ़ाने और यातायात नियमों का अनुपालन लागू करने का भी यह प्रयास माना जाता है। चालू वर्ष में एक जनवरी से 31 मई तक पांच माह में ट्रैफिक पुलिस ने दोषपूर्ण नंबर प्लेट वाले 16859 वाहनों के चालान काटे हैं।

By Rakesh Kumar Singh Edited By: Abhishek Tiwari Published: Mon, 10 Jun 2024 08:11 AM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 08:11 AM (IST)
Delhi Challan: दिल्ली में इन वाहनों का धड़ाधड़ कट रहा चालान, आप ना करें ऐसी गलती

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। एनसीआर में रहने वाले लोग अगर अपने वाहनों से दिल्ली आते हैं तो वे यातायात नियमों का पालन करने में सतर्कता जरूर बरतें। राजधानी में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों की खैर नहीं होती है।

दिल्ली यातायात पुलिस ने राजधानी में सुगम यातायात व्यवस्था के लिए हर वो तरीका अपना रहे हैं ताकि कार्रवाई के डर से लोग सावधानी पूर्वक यातायात नियमों का पालन करें। दोषपूर्ण नंबर प्लेट वाले वाहनों के खिलाफ तेज हुई कार्रवाई न केवल अभियोजन में वृद्धि की व्यापकता को दर्शाता है बल्कि सड़क सुरक्षा बढ़ाने और यातायात नियमों का अनुपालन लागू करने का भी यह प्रयास माना जाता है।

दोषपूर्ण नंबर प्लेट यानी अस्पष्ट नंबर, अनुचित रूप से लिखा हुआ नंबर या निर्धारित मानकों के अनुरूप न होने की श्रेणी में आता है। इसे यातायात नियमों का उल्लंघन और सुरक्षा में योगदान न देने वाले प्रमुख कारणों में माना जाता है।

इस तरह की कार्रवाई के लिए दिल्ली यातायात पुलिस ने अतिरिक्त कर्मियों को तैनात किया है ताकि उल्लंघन कर्ताओं पर निगरानी रखने और उन्हें पकड़ने के लिए आसानी हो। यातायात का अत्यधिक दबाव वाले क्षेत्रों पर विशेष ध्यान देने के साथ पूरे शहर में प्रवेश व निकास द्वारों पर इसके लिए विशेष बंदोबस्त किए गए हैं।

पांच में दोषपूर्ण नंबर प्लेट वाले 4,363 वाहनों के काटे चालान

चालू वर्ष में एक जनवरी से 31 मई तक पांच माह में ट्रैफिक पुलिस ने दोषपूर्ण नंबर प्लेट वाले 16,859 वाहनों के चालान काटे जो बीते वर्ष की तुलना में 286 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि है। बीते वर्ष इस पांच माह की अवधि के दौरान दोषपूर्ण नंबर प्लेट वाले 4,363 वाहनों के चालान काटे गए।

इसके अतिरिक्त दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने इसका गहन विश्लेषण किया है कि दोषपूर्ण चालानों की सबसे अधिक संख्या किन दस शीर्ष ट्रैफिक सर्कल में अधिक हैं। इन क्षेत्रों को चिन्हित कर प्रवर्तन पर फोकस किया गया। यातायात नियमों का जमीनी स्तर पर कार्यान्वयन के अलावा ठोस प्रयास किया गया है।

उचित नंबर प्लेटों के महत्व के बारे में जन जागरूकता बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। सोशल मीडिया और ऑटोमोबाइल एसोसिएशन के इसके लिए सहयोग लिया जा रहा है। वाहन मालिकों से आग्रह किया जाता है कि वे अनुपालन के लिए अपनी नंबर प्लेटों की जांच करें, जुर्माने से बचने के लिए तुरंत आवश्यक सुधार करें।

इन 10 ट्रैफिक सर्कल में काटे गए सबसे अधिक चालान

  • मयूर विहार -       926
  • नंद नगरी -          917
  • खजूरीखास -        845
  • समयपुर बादली826
  • सिविल लाइंस -    804
  • भजनपुरा -          798
  • अशोक विहार -    736
  • गांधी नगर -         699
  • सदर बाजार -       579
  • नरेला -                565

वहीं स्टॉप लाइन का उल्लंघन करने पर एक जनवरी से 31 मार्च 126084 चालान काटे गए जो पिछले साल की तुलना में अभियोजन में 20 की वृद्धि है। पिछले साल तीन माह में 105317 चालान काटे गए थे।

10 बड़े सर्कल जहां हुई सबसे अधिक कार्रवाई

  • डिफेंस कॉलोनी -    24716
  • मयूर विहार -          13285
  • सफदरजंग एन्क्लेव - 12552
  • लाजपतनगर -          8275
  • द्वारका -                  8247
  • तिलक नगर -           5800
  • पंजाबी बाग -            5460
  • मॉडल टाउन -          4655
  • मधु विहार -              4272
  • सिविल लाइंस -           4172

This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.