नई दिल्ली, जेएनएन। नारायणा थाना क्षेत्र में एक शख्स ने 15 वर्षीय किशोरी के साथ दुष्कर्म किया। जब किशोरी गर्भवती हुई तब लोकलाज के डर से किशोरी के परिजनों ने उनका गर्भपात कराया। इस दौरान किशोरी की तबीयत अचानक काफी बिगड़ गई, जिसके बाद परिजन उन्हें लेकर डीडीयू अस्पताल पहुंचे। यहां उपचार के दौरान किशोरी ने दम तोड़ दिया। मामले की जानकारी अस्पताल प्रशासन के माध्यम से पुलिस को दी गई। पुलिस ने इस मामले दुष्कर्म के आरोपित के खिलाफ पॉक्सो के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरु कर दी है।

अारोपित गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। पहले आरोपित ने खुद को नाबालिग बताया बाद में पता चला कि वह बालिग है। पुलिस यह भी पता कर रही है कि किशोरी का गर्भपात कहां कराया गया। इस मामले में यदि किसी अन्य की भूमिका सामने आएगी तब पुलिस उसके खिलाफ भी मामला दर्ज करेगी।

मामले की तहकीकात जारी

जानकारी के अनुसार किशोरी अपने माता पिता के साथ नारायणा इलाके में रहती थी। किशोरी स्कूल नहीं जाती थी और घर में ही रहती थी। इनके पिता नारायणा इलाके में फैक्ट्री में काम करते हैं। जिस मकान में किशोरी रहती थी उसी मकान में एक कमरे में आरोपित भी रहता था। यहां आरोपित ने बहला-फुसलाकर किशोरी को झांसे में लिया और दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। जब पीड़िता के माता- पिता को आरोपित पर कुछ संदेह हुआ तो उन्होंने अपनी बेटी को आरोपित से दूर करने काफी कोशिश की। लेकिन, आरोपित पर इसका कोई असर नहीं हुआ।

गर्भवती होनी की जानकारी मिलने के बाद भागा अारोपित

इसके बाद माता पिता ने किशोरी को समझाबुझाकर आरोपित से दूर रहने को कहा। किशोरी ने अपने माता पिता को यह नहीं कहा कि वह गर्भवती है। इधर किशोरी ने खुद के गर्भवती होने की बात जब आरोपित से कही तो उसने अपना कमरा बदल लिया। इधर जब किशोरी के गर्भवती होने की बात माता-पिता को पता चली तो उन्होंने उनका गर्भपात कराने की कोशिश की।

तबीयत बिगड़ने पर खुला मामला

इस दौरान किशोरी की तबीयत अचानक काफी बिगड़ गई जिसके बाद परिजन उन्हें लेकर डीडीयू अस्पताल पहुंचे। शुुक्रवार रात को किशोरी अस्पताल में दाखिल हुई और देर रात किशोरी की मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन के माध्यम से इस प्रकरण का पता पुलिस को चला। पुलिस के अनुसार अभी यह पता किया जा रहा है कि गर्भपात की कोशिश को कहां अंजाम दिया गया है।

पोसटमार्टम में खुलेंगे कई राज

पुलिस शव का पोस्टमार्टम भी कराएगी ताकि मौत के सही कारणों का पता चल सके। पुलिस को इस बात की भी आशंका है कि गर्भपात के दौरान ही किशोरी को आंतरिक जख्म हुआ हो, जिसके कारण उनकी मौत हुई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से इस बात का भी पता चल जाएगा कि जख्म मौत की वजह तो नहीं है। पुलिस इस मामले में निष्कर्ष तक पहुंचने के लिए किशोरी के परिजनों से भी पूछताछ कर रही है।

शौचालय में मिला भूण

रविवार को हरिनगर स्थित डीडीयू अस्पताल के शौचालय से एक भ्रूण बरामद होने की घटना सामने आई है। जिस इमरजेंसी वार्ड के भवन स्थित शौचालय में यह भ्रूण बरामद हुआ है वहां कड़ी सुरक्षा रहती है। यह सुरक्षा प्रवेश द्वार व निकास द्वार दोनों ओर रहती है। ऐसे में कोई भ्रूण को शौचालय में कैसे छोड़ गया यह एक बड़ा सवाल है। पुलिस का कहना है कि इस मामले की जांच की जा रही है। अस्पताल परिसर में जगह जगह सीसीटीवी कैमरे को खंगाला जा रहा है, इसके अलावा प्रसव के लिए आने वाली महिलाओं के बारे में भी जानकारी ली जा रही है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप