नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। पश्चिमी दिल्ली के द्वारका सेक्टर-2 स्थित वेंकटेश्वर इंटरनेशनल स्कूल में 11वीं कक्षा में पढ़ने वाली एक छात्रा के कोरोना संक्रमित होने का मामला सामने आया है। छात्रा अपने घर में क्वारंटाइन है। परिवार के अन्य सदस्य भी होम आइसोलेशन के नियम का पालन कर रहे हैं। स्कूल की प्रधानाचार्य मनीषा शर्मा ने बताया कि छात्रा 15 फरवरी को केवल एक ही दिन के लिए स्कूल आई थी। इसके बाद वह अपने किसी पारिवारिक कार्यक्रम में भी सम्मिलित हुई थी। बड़ा सवाल यह है कि छात्रा संक्रमण की चपेट में कैसे आई ? उन्होंने कहा कि छात्रा के संक्रमित होने की जानकारी मिलने के बाद कक्षा को सैनिटाइज किया गया। 15 फरवरी को छात्रा के संपर्क में आए किसी भी विद्यार्थी में अभी तक कोई लक्षण दिखाई नहीं दिए और उस घटना को 15 दिन बीत चुके हैं, ऐसे में स्कूल को बंद करने का कोई औचित्य नहीं है।

उन्होंने कहा कि स्कूल में प्रवेश करने वाले सभी विद्यार्थियों की थर्मल स्क्री¨नग करने के साथ-साथ स्कूल परिसर में जगह-जगह सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। कक्षा में शारीरिक दूरी को ध्यान में रखते हुए 10 व 12 से अधिक विद्यार्थियों को नहीं बिठाया जाता है। विद्यार्थी लंच व पानी साझा न करें इस बात का भी पूरा ध्यान रखा जाता है। सभी ठीक से मास्क लगाएं, इसके लिए भी समय-समय पर सभी को जागरूक किया जाता है।

उधर, दिल्ली अभिभावक संघ की अध्यक्ष अपराजिता गौतम ने बताया कि वेंकटेश्वर इंटरनेशनल स्कूल में छात्रा के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी मिली है। स्कूल प्रबंधन को छात्रों पर किसी भी प्रकार का दबाव नहीं बनाना चाहिए। छात्रों के पास आनलाइन व आफलाइन परीक्षा देने के दोनों विकल्प मौजूद रहने चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में मुख्यमंत्री व उपराज्यपाल को पत्र लिखकर चिंता भी जाहिर की गई है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021