Move to Jagran APP

Pakistan ISI Spy: पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने का आरोपित हिरासत में, भारतीय सेना को सब्जियां करता था सप्‍लाई

Pakistan ISI Spy दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच (Delhi police crime branch) पिछले कुछ समय से हबीब खान पर नजर रखे हुए थी। मंगलवार को उसे हिरासत में लेने के बाद बुधवार को दिल्ली लाया गया। पुलिस औऱ आइबी उससे पूछताछ कर रही है।

By Jp YadavEdited By: Published: Wed, 14 Jul 2021 01:51 PM (IST)Updated: Wed, 14 Jul 2021 02:53 PM (IST)
राजस्थान से पकड़ा गया शख्स, पाकिस्तान खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने का आरोप

नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस (आइएसआइ) के लिए जासूसी करने वाले एक संदिग्ध को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच (Delhi Police Crime Branch) ने राजस्थान के पोकरण से हिरासत में लिया है। आरोपित मूलरूप से बीकानेर का रहने वाला है और वह भारतीय सेना को सब्जियों की आपूर्ति करता था और काफी समय से इसी काम को कर रहा था।

loksabha election banner

मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ से अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े संदिग्ध का नाम हबीब खान है और यह भारतीय सेना में कॉन्ट्रेक्ट के तौर पर कई वर्षों से काम कर रहा था। यह भी पता चला है कि आरोपित हबीब खान सेना के लिए सब्जियांं सप्लाई करता था। अब जांच एजेंसियों को यह भी पता लगाना है कि यह किन-किन लोगों के संपर्क में था। माना जा रहा है कि हबीब खान सेना से जुड़ा अहम जानकारी जुटाकर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ को देने की जुगत में था।

छानबीन के बाद लिया हिरासत में

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच पिछले कुछ समय से हबीब खान पर नजर रखे हुए थी। मंगलवार को उसे हिरासत में लेने के बाद बुधवार को दिल्ली लाया गया। पुलिस औऱ आइबी उससे पूछताछ कर रही है।

यहां पर बता दें कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइआसआइ के लिए कथित रूप से जासूसी करने के मामले में सेना के दो जवानों को गिरफ्तार किया गया। पंजाब पुलिस ने इस बाबत जानकारी मुहैया कराई थी। आरोपितों की पहचान सिपाही हरप्रीत सिंह (23) और सिपाही गुरभेज सिंह (23) के रूप में की गई है। जहां हरप्रीत जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में तैनात था और 19 राष्ट्रीय राइफल्स से जुड़ा था, वहीं गुरभेज करगिल में क्‍लर्क के रूप में कार्यरत था और 18 सिख लाइट इन्फेंट्री से संबंधित था। आरोपितों देश की रक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित 900 से अधिक गोपनीय दस्तावेजों की तस्वीरें सीमापार तस्कर रणवीर सिंह को फरवरी से मई 2021 के बीच चार महीने के अंतराल में साझा कर चुके हैं। रणवीर सिंह उन्हें पाकिस्तान के खुफिया अफसरों को भेज चुका है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.