जागरण संवाददाता, पश्चिमी दिल्ली : नजफगढ़ थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया। बदमाशों ने वारदात के दौरान दहशत फैलाने के इरादे से पहले गोलियां चलाई और फिर बैग लूटकर फरार हो गए। पुलिस के अनुसार बैग में करीब पौने सात लाख रुपए थे। पीड़ित के बयान के आधार पर पुलिस ने लूट का मामला दर्ज कर घटना की तहकीकात शुरू कर दी है। बैंक के नजदीक लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को पुलिस खंगालने में जुटी है, ताकि आरोपितों की पहचान हो सके। पुलिस के अनुसार पीड़ित प्रमोद नजफगढ़ स्थित इंडियन ऑयल पैट्रोल पंप पर सुपरवाइजर का काम करते हैं। वे पंप का पैसा जमा कराने के लिए छावला बस स्टैंड के पास भारतीय स्टेट बैंक में जाते हैं। सोमवार सुबह करीब 11 बजे प्रमोद अपने एक अन्य स्टाफ के साथ स्कूटी से पैसा जमा कराने के लिए बैंक जा रहे थे। जैसे ही वे बैंक के सामने पहुंचे, इसी दौरान मोटरसाइकिल सवार दो बदमाशों ने उन पर हमला कर दिया। बदमाशों ने प्रमोद और उनके सहयोगी को डराने के लिए गोलियां चला दी और बैग छीन कर फरार हो गए। बदमाशों के जाने के बाद पीड़ित ने पुलिस और पैट्रोल पंप के मालिक को लूट की सूचना दी। मौके पर पहुंची नजफगढ़ थाना पुलिस ने पीड़ित के बयान पर मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। वारदात से पूर्व की होगी रैकी

पुलिस को इस बात की आशंका है कि वारदात को अंजाम देने से पहले बदमाशों ने आसपास के पूरे इलाके की रैकी की होगी। उन्होंने यह पता लगाया होगा कि कर्मचारी किस समय बैंक में पैसा जमा कराने जाते हैं। सोमवार को लूट की इस वारदात को देखते हुए इस बात की आशंका है कि आरोपित को यह पता होगा कि इस दिन नकदी अन्य दिनों के मुकाबले अधिक होता होगा, क्योंकि रविवार को बैंक बंद रहता है। दूसरी ओर रैकी की बात को पुलिस इसलिए भी मान रही है क्योंकि बदमाश उनके आने से पहले ही बैंक के बाहर मौजूद थे। जैसे ही प्रमोद और उसका साथी बैंक के गेट पर पहुंचे, बदमाशों ने उन पर हमला बोल दिया और पैसे लूट कर ले गए। वारदात की जांच के लिए फिलहाल तीन टीमों को लगाया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप