राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : रेलवे अस्पतालों में बड़े सरकारी व निजी अस्पतालों की तरह सुविधाएं उपलब्ध होंगी। इसके लिए जल्द ही विस्तृत प्रस्ताव तैयार किया जाएगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को उत्तर रेलवे के केंद्रीय अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को अस्पताल में सुविधाएं बढा़ने और परिसर की सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने अंगदान के लिए लोगों को जागरूक करने को कहा।

अस्पताल में रेल मंत्री ने मरीजों को फल वितरित किए और उनकी समस्याएं सुनीं। कई मरीजों ने शौचालय की सफाई को लेकर शिकायत की। इस पर मंत्री ने वहां मौजूद अधिकारियों को अस्पताल परिसर की सफाई व्यवस्था सुधारने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि रेल कर्मचारियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिले, इसके लिए हर जरूरी कदम उठाया जा रहा है। अस्पतालों का स्तर ऊंचा उठाए जाने की जरूरत है। इसके लिए अधिकारी विस्तृत प्रस्ताव तैयार करें ताकि उस पर शीघ्र काम शुरू हो सके। उन्होंने अधिकारियों को बड़े सरकारी और निजी अस्पतालों में जाकर वहां उपलब्ध सुविधाओं और कार्यप्रणाली देखने को कहा जिससे कि रेलवे अस्पतालों में भी सुधार किया जा सके। उन्होंने अस्पतालों को बेहतर बनाने का काम चरणबद्ध तरीके से निर्धारित समय सीमा में पूरा करने को कहा।

उन्होंने अंगदान का महत्व बताया और डॉक्टरों को इसके लिए विशेष अभियान चलाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि अंगदान से कई लोगों को नई जिंदगी दी जा सकती है। इसके लिए लोगों को प्रोत्साहित करने की जरूरत है। इसलिए विशेष परामर्श सत्र आयोजित किया जाना चाहिए। इस मौके पर उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक विश्वेश चौबे, डीआरएम आरएन सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Edited By: Jagran