राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव में हुई हार के बाद मुख्यमंत्री अरविद केजरीवाल 26 मई को कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। इसके लिए पंजाबी बाग क्लब में सम्मेलन बुलाया गया है। वहीं इस हार से सबक लेकर आम आदमी पार्टी नई रणनीति के तहत आगामी दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटेगी।

शुक्रवार को आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने प्रेसवार्ता बुलाई। इसमें उन्होंने कहा कि इस लोकसभा चुनाव में सभी सातों लोकसभा सीटों पर कराए गए आकलन में एक समान बात निकल कर सामने आई है। यह कि एक तरफ लोगों ने मोदी जी को जिताने और दूसरी ओर मोदी जी को हराने के लिए वोट दिया। मोदी जी को जिताने वालों की संख्या ज्यादा थी। जिससे दिल्ली में भी मोदी जी को ऐतिहासिक जीत मिली। मगर इन सब के बीच एक अहम बात भी सामने आई कि मोदी जी को जिताने और हराने वाले दोनों ही लोगों ने साफ कहा है कि आगामी दिल्ली विधानसभा में वे केजरीवाल को ही वोट देंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली में दोबारा से केजरीवाल को जिताने की मांग चारों तरफ से उठ रही है। उस मांग को ध्यान में रखते हुए और अपने संगठन में जो कमियां रह गई हैं, उन कमियों को दूर किया जाएगा।

राय ने कहा कि आम आदमी पार्टी का पूरा चुनावी अभियान पूर्ण राज्य के मुद्दे पर आधारित था। पार्टी की सोच थी कि अगर आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी जीत कर संसद में जाएंगे तो दिल्ली के लोगों के लिए केंद्र से लड़कर और बेहतर काम करा सकेंगे। परंतु चुनाव के अंत तक जो वोट पड़ा वह राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी के नाम पर पड़ा।

उन्होंने कहा कि हम दिल्ली लोकसभा चुनाव पर मंथन कर रहे हैं। लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने पूरी मेहनत के साथ अपनी भागीदारी दर्ज की। उन्होंने कहा कि बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री अरविद केजरीवाल की सभी प्रत्याशियों के साथ बैठक हुई है। बैठक से पार्टी इस नतीजे पर पहुंची है कि दिल्ली में पार्टी यह बात जनता को समझा पाने में पूरी तरह सफल नहीं हो पाई वे लोग उसे वोट क्यों दें? पूरे देश में जो चुनाव मोदी बनाम राहुल हो रहा था दिल्ली का चुनाव भी उसी पटल पर चला गया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस