राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : तीन राष्ट्रीय राजमार्गो को जोड़ने के लिए प्रस्तावित तीन अर्बन एक्सटेंशन रोड की राह में आ रही दिक्कतों को दूर करने की कवायद तेज हो गई है। दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) संभावना तलाश रहा है कि इन सड़कों की राह में बाधा बन रहे निर्माण को हटाने की बजाय वहां ऊपरगामी (एलीवेटेड) सड़कें बनाई जाएं। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय द्वारा इस परियोजना पर गंभीरता से काम करने के निर्देश के बाद डीडीए की कोशिश है कि इन तीनों सड़कों (जिन्हें दिल्ली के लिए नया रिंग रोड माना जा रहा है) का काम 2015 तक पूरा हो जाए।

डीडीए ने कई साल पहले तीन अर्बन एक्सटेंशन रोड बनाने का निर्णय लिया था। अर्बन एक्सटेंशन रोड-दो पर काम शुरू हो चुका है, लेकिन इसको लेकर जमकर विवाद हो रहा है। इसके लिए डीडीए सैकड़ों बीघा भूमि अधिग्रहित कर 2006 में नोटिस भी जारी कर चुका है, लेकिन यदि डीडीए की योजना के मुताबिक अर्बन एक्सटेंशन रोड बनता है तो कई इलाकों में बसे लोगों को उजड़ना पड़ सकता है। लोग जमकर विरोध कर रहे हैं। इसके चलते दिल्ली सरकार के राजस्व विभाग के अधिकारी अर्बन एक्सटेंशन रोड के नक्शे में बदलाव की सिफारिश कर रहे हैं। हालांकि, अभी तक डीडीए ने कोई ठोस फैसला नहीं लिया है।

कहां-कहां से गुजरेंगे रिंग रोड

1. अर्बन एक्सटेंशन रोड-एक

वजीराबाद बाईपास से राष्ट्रीय राजमार्ग 1, 8 व 10 को जोड़ेगी। यह रोड नरेला, बवाना, टीकरी कलां, मितराऊ, बिजवासन व रजोकरी से हो कर गुजरेगी। इसकी लंबाई 57.24 किलोमीटर होगी।

2. अर्बन एक्सटेंशन रोड-दो

वजीराबाद बाईपास से रोहिणी फेज चार व पांच होते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग 1, मुंडका, बक्करवाला, ढिंचाऊकलां, नजफगढ़, छावला व दवरिया से राष्ट्रीय राजमार्ग आठ और शिवमूर्ति होते हुए बदरपुर राष्ट्रीय राजमार्ग 2 को जोड़ेगी। इसकी लंबाई 79.12 किलोमीटर होगी।

3. अर्बन एक्सटेंशन रोड तीन

वजीराबाद बाईपास से बख्तावरपुर, बादली, रोहिणी फेज तीन-बेगमपुर, अमर कालोनी के रास्ते राष्ट्रीय राजमार्ग 1 से राष्ट्रीय राजमार्ग 8 को जोड़ेगी। इसकी लंबाई 20.08 किलोमीटर होगी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर