नई दिल्ली [राहुल चौहान]। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन करने से वंचित रहे छात्रों को फिर से मौका दिया है। इससे लाखों छात्रों को राहत मिली है। अब छात्र अपना परीक्षा परिणाम घोषित होने से 30 दिन तक पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन कर सकते हैं। दरअसल कोरोना संकट के कारण परीक्षा देर से घोषित होने पर छात्रों ने भी परिणाम देर से देखा। इसलिए पुनर्मूल्यांकन के लिए पहले दिया गया समय बीत गया। अब विश्वविद्यालय ने फिर से छात्रों के लिए लिंक https://onlinerr.ignou.ac.in/reevaluation/ खोल दिया है।

इस पर जाकर सभी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए छात्र आवेदन कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि छात्रों की पुनर्मूल्यांकन के लिए समय देने की मांग को दैनिक जागरण ने प्रमुखता से उठाते हुए रविवार को खबर प्रकाशित की थी। इग्नू में देश भर के लाखों छात्र पढ़ते हैं। इनमें से बहुत से छात्र फेल हो गए थे, जो अब पुनर्मूल्यांकन करा सकेंगे।

बता दें कि बहुत से छात्रों ने पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन तिथि बढ़ाने की मांग की थी। छात्रों का कहना था कि कोरोना को देखते हुए पुनर्मूल्यांकन के लिए 15 जून तक का समय दिया जाए। साथ ही पुनर्मूल्यांकन के लिए आनलाइन और आफलाइन दोनों ही विकल्प छात्रों को दिया जाना चाहिए। ताकि किसी को कोई दिक्कत न हो।

एयूडी में अब 25 मई तक पीएचडी के लिए आवेदन

वहीं, अंबेडकर विश्वविद्यालय दिल्ली (एयूडी) ने कोरोना संकट के कारण अपने पीएचडी कोर्स में दाखिले के लिए आनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि फिर बढ़ा दी है। अब पीएचडी में दाखिले के इच्छुक छात्र 25 मई तक आवेदन कर सकते हैं। इससे पहले अंतिम तिथि 12 मई तक थी। एयूडी में अर्थशास्त्र, इतिहास, मनोविज्ञान, गणित, समाजशास्त्र, हिंदी और अंग्रेजी सहित कई अन्य विषयों में पीएचडी के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

 

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप