मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। निजामुद्दीन क्षेत्र में विधवा महिला के ऊपर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी गई। आरोप है कि ससुराल वालों ने संपत्ति पर कब्जा करने की नियत से ऐसा किया। गंभीरावस्था में उसे नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

बीमारी के कारण पति की मौत

पुलिस ने बताया कि खुरेजी गांव में रहने वाली यासमीन अल्वी की शादी 2009 में निजामुद्दीन के रहने वाले आमिर अल्वी से हुई थी। चार साल पहले बीमारी के चलते आमिर की मौत हो गई। इसके बाद यासमीन तीन बेटियों के साथ ससुराल में रह रही थी।

मांग रही थी पति का हिस्‍सा
यासमीन के ससुराल वालों ने दूध की डेयरी और दूसरी संपत्तियां किराये पर दे रखी हैं। जबकि यासमीन इनमें से अपने पति का हिस्सा मांग रही थी। इसी बात को लेकर ससुराल वालों से उसका विवाद चल रहा था।

देवर और देवरानियों ने मिट्टी तेल डाल लगा दी आग

शुक्रवार की शाम यासमीन के तीन देवरों व तीन देवरानियों ने उसपर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी। इसी बीच यासमीन की बेटी अनम अल्वी वहां पहुंच गई और शोर मचा दिया तो आरोपित मौके से भाग निकले।

पड़ाेस की लड़की ने बचाई जान

इसके बाद अनम अल्वी ने पड़ोस में रहने वाली अपनी मौसी को घटना की जानकारी दी। सूचना पर निजामुद्दीन थाना पुलिस मौके पर पहुंची और महिला को गंभीर हालत में सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों के मुताबिक महिला 80 फीसदी तक झुलस चुकी है। उसकी हालत काफी गंभीर है। अफसरों का कहना है कि पीड़िता की बेटी के बयान के आधार पर जानलेवा हमला करने का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप