जागरण संवाददाता, दक्षिणी दिल्ली :

पुरानी बोतलों में मिलावटी शराब भरकर बेचने वाले एक बदमाश को ओखला एस्टेट चौकी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुरानी बोतलों में शराब भरने के बाद वह बोतलों पर डिफेंस कैंटीन का स्टीकर लगा देता था। मिलावटी शराब बनाने और बोतलों पर स्टीकर लगाने का काम सोनीपत में गोदाम में किया जा रहा था। पुलिस ने डिफेंस कैंटीन के फर्जी स्टीकर लगी मिलावटी शराब की 211 बोतल और वैगनआर कार को जब्त कर लिया है। पकड़े गए बदमाश की पहचान हरियाणा में झज्जर के बहादुरगढ़ निवासी नरेंद्र कुमार उर्फ ढीला के रूप में हुई है। पुलिस ने उसे गो¨वदपुरी से ओखला फेस-तीन की तरफ आते हुए वाहन जांच के दौरान पकड़ा। पूछताछ में नरेंद्र ने बताया कि वह 2016 में द्वारका के रहने वाले बबलू के संपर्क में आया था। बबलू सोनीपत के सिसाना खरखौदा के रहने वाले राजेश के लिए काम करता है। सोनीपत में बने गोदाम में मिलावटी शराब बनाए जाने के साथ डिफेंस कैंटीन के फर्जी स्टीकर लगाने का काम किया जाता है। पैसा कमाने के लिए नरेंद्र ने पुरानी कार खरीदी और सोनीपत से डिफेंस कैंटीन के फर्जी स्टीकर लगी मिलावटी शराब को दिल्ली में पहुंचाने के लिए एक चक्कर के तीन हजार रुपये लेता है। नरेंद्र के बताए गए पते पर पुलिस ने बबलू और राजेश को पकड़ने के लिए छापेमारी की, लेकिन दोनों वहां नहीं मिले।

डीसीपी चिन्मय बिश्वाल ने बताया कि ये लोग पुरानी शराब की खाली बोतलों में मिलावटी शराब भरने के बाद उन पर फर्जी स्टीकर लगाने के बाद हरियाणा से दिल्ली में लाकर बेचते थे। जिन लोगों को दिल्ली में शराब बेची जाती है और जो लोग इसमें शामिल हैं, उनकी धरपकड़ का प्रयास किया जा रहा है।

By Jagran