जागरण संवाददाता, नई दिल्ली :

सुप्रीम कोर्ट के वकील ने कोर्ट परिसर में जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। कुरुक्षेत्र निवासी वकील विजय (24) के पास से पुलिस को 40 पेज का सुसाइड नोट मिला है। पुलिस के अनुसार विजय का एक युवती से विवाद चल रहा था और उसने विजय के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सुसाइड नोट में विजय ने लिखा है कि युवती और उसके परिजन उसे परेशान करते थे और जान से मारने की धमकी देते थे। इससे तंग आकर उसने खुदकशी कर ली। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया और रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के अनुसार विजय सुप्रीम कोर्ट में अपने साथ कुछ जहरीला पदार्थ लेकर आए थे और परिसर के अंदर उसे खा लिया। थोड़ी देर में जब वह जमीन पर गिर गए तो वहां मौजूद अन्य वकील उन्हें एलएनजेपी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। विजय वकालत के साथ सिविल सेवा की तैयारी कर रहे थे। वह रोहिणी में कोचिंग भी करते थे। कोचिंग में ही उनकी मुलाकात दिल्ली की एक युवती से हुई और दोनों के बीच प्रेम-प्रसंग शुरू हो गया। कुछ समय के बाद किसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया। विजय ने युवती और उसके परिजनों के खिलाफ अमर कॉलोनी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। विजय युवती से अपने रिश्ते खत्म करना चाहता था, लेकिन युवती और परिजन उसे परेशान कर रहे थे। युवती ने भी विजय के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सुसाइड नोट के अनुसार विजय को युवती और उसके परिजनों से जान का खतरा था। इन सब बातों को लेकर वह तनाव में था। पुलिस के अनुसार मामले में रिपोर्ट दर्ज की गई और सुसाइड नोट के आधार पर मामले की जांच की जा रही है। विजय के परिजनों एवं उसके दोस्तों से भी पूछताछ की गई है। मामले की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट के सीसीटीवी फुटेज को भी देखा जा रहा है।