जागरण संवाददाता, नई दिल्ली: घटवार, घटवाल जाति को पुन: आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग को लेकर जंतर-मंतर पर आदिवासी महासभा के तत्वावधान में प्रदर्शन हुआ। सोमवार को हुए प्रदर्शन में झारखंड के विभिन्न जिलों से घटवार जाति के लोग शामिल हुए।

महासभा के केंद्रीय अध्यक्ष दुर्गा सिंह घटवार ने बताया कि घटवार झारखंड के मूल निवासी हैं। छोटा नागपुर कास्तकारी अधिनियम 1908 सीएनटी एक्ट कानून के तहत 33 जातियां आदिवासी सूची में शामिल हैं। घटवार जाति का नाम क्रम संख्या 11 है। अभी तक कानून बनाकर घटवार जाति का नाम हटाया नहीं गया है, लेकिन भारत सरकार के लिपिकीय भूल से नाम छुट गया है। अब इसे गलती कहें या जानबूझकर किया गया कृत्य। 38 सालों से दोबारा आदिवासी सूची में शामिल करने के लिए समाज आंदोलनरत है, लेकिन विभिन्न सरकारें अब तक हमारी मंाग को अनसुना करती आई हैं।