जागरण संवाददाता, नई दिल्ली :

भारतीय रेलवे के इंजीनियर सौरभ कुमार की हत्या के मामले में न्याय की मांग को लेकर जंतर-मंतर पर कैंडल लाइट मार्च किया। यह प्रदर्शन स्वराज अभियान संगठन की ओर से किया गया। इसमें बड़ी संख्या में लोगों ने एकत्रित होकर सौरभ के लिए न्याय की मांग की।

बताया जा रहा है कि 22 सितंबर को पश्चिम मेदिनीपुर जिले के खडगपुर रेलवे जरनल स्टोर में चीफ डिपो मैटीरियल सुपरिटेंडेंट सौरभ की लाश गोल बाजार स्थित उनके क्वार्टर्स से मिली थी। तब से मामले की जांच चल रही है।

संगठन के मीडिया प्रभारी अनुपम ने बताया कि सौरभ ने अपनी ईमानदारी की कीमत जान देकर चुकाई, लेकिन अब तक उसके हत्यारों को सजा नहीं मिली। आज भी सौरव के परिवार वाले न्याय की आस में बैठे हैं। सोशल मीडिया में अभियान केदबाव केबाद पुलिस ने 10 दिन बाद प्राथमिकी दर्ज कराई, लेकिन दिवंगत इंजीनियर को अभी भी न्याय नहीं मिला है।

स्वराज अभियान के राष्ट्रीय संयोजक प्रो. आनंद कुमार और राष्ट्रीय सचिव अजीत झा भी कैंडल मार्च विरोध में शामिल हुए और न्याय की मांग को लेकर आवाज बुलंद की। प्रो. आनंद कुमार ने कहा कि जब तक सौरभ को न्याय नहीं मिलता हम संघर्ष करते रहेंगे और इसी तरह एकजुट होकर आवाज उठाते रहेंगे। प्रदर्शन में सौरभ के करीबी रिश्तेदार और बीआईटी सिंदरी के पूर्व छात्रों ने भी हिस्सा लिया और सौरभ के लिए न्याय की मांग की। उन्होंने वहां से पढ़ाई की थी। दिल्ली के अलावा यह प्रदर्शन देश के 19 शहरों में भी आयोजित किया गया, जिसमें लोगों ने एकत्रित होकर सौरभ को श्रद्धांजलि दी और जल्द न्याय की मांग की।