जागरण संवाददाता, पश्चिमी :

पश्चिमी दिल्ली के प्रमुख रेलवे स्टेशनों में से एक पालम रेलवे स्टेशन पर न केवल सुविधाओं का अभाव है, बल्कि स्टेशन के मुख्य द्वार को देखकर यह अंदाजा लगाना भी मुश्किल होता है कि यह स्टेशन की इमारत है या कोई आम भवन। स्टेशन पहुंचने के लिए यात्रियों को टूटी सड़कों में हिचकोले लेते गुजरना पड़ता है। स्टेशन से 200 मीटर दूर की इस सड़क का यह हाल तब है जबकि इसे हर वर्ष बनाया जाता है। इस स्टेशन से प्रतिदिन दर्जन भर गाड़ियां गुजरती हैं, जबकि यहां से रोज चार से पांच हजार यात्री यात्रा करते हैं।

यात्रियों को पड़ता है भटकना

पालम रेलवे स्टेशन से रोज चार से पांच हजार यात्री सफर करते हैं। यहां पूछताछ केंद्र न होने से यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। मसलन, यात्रियों को ट्रेन की जानकारी लेने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है।

स्टेशन परिसर में शौचालय नहीं

पालम रेलवे स्टेशन पर रोज बड़ी संख्या में सफर करने आते हैं, लेकिन यहां जनसुविधाएं होने से लोगों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। स्टेशन पर एक शौचालय होता था, जो छह माह पहले सीवर खराब होने के चलते बंद कर दिया गया है। ट्रेन परिसर के अंदर महिलाओं के लिए शौचालय नहीं है। इसके चलते महिलाओं व बच्चों को काफी परेशानी से गुजरना पड़ता है।

पेयजल की किल्लत

पालम रेलवे स्टेशन पर पीने के पानी की भी उचित व्यवस्था नहीं है। हजारों यात्रियों के लिए मात्र एक ही जगह नल लगा हुआ है।

स्टैंड बदहाल

प्लेटफार्म पर यात्रियों के खड़े होने के लिए बने स्टैंड भी टूटी-फूटी हालत में हैं। बरसात के दिनों में उनसे पानी टपकता है तो गर्मी में यात्रियों को तपती धूप का सामना करने को मजबूर होना पड़ता है।

-------------------

यात्रियों सुविधाओं को लेकर रेलवे प्रशासन बिल्कुल लापरवाह बना हुआ है। शौचालय नहीं है। गर्मी में यात्रियों को धूप में खड़े होने पर विवश होना पड़ता है।

-बाल कृष्ण, सचिव दैनिक यात्री संघ।

-----------

स्टेशन परिसर पर टॉयलेट की सुविधा थी। वर्तमान स्थिति से मैं वाकिफ नहीं हूं। यदि स्टेशन परिसर पर इस तरह की कोई परेशानी है तो इसकी जांच कराकर समस्या दूर की जाएगी।

-अमर सिंह नेगी, प्रवक्ता, उत्तर रेलवे

----------------

मेरा अक्सर इस स्टेशन पर आना-जाना लगा रहता है। टॉयलेट न होने से यहां काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इससे महिलाओं को अधिक परेशानी होती है।

-रोशन सिंह, निवासी उत्तम नगर।

---------------------

मुझे ट्रेन पकड़कर बिजवासन जाना है। यह काफी पुराना स्टेशन है, लेकिन जनसुविधा के मामले में यह बिल्कुल पिछड़ा हुआ है।

-स्नेह लता, निवासी जनकपुरी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर