मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लीड्स, प्रेट्र। Pak vs AFG CWC 2019: पाकिस्तानी टीम विश्व कप में अफगानिस्तान के खिलाफ शनिवार को होने वाले मुकाबले में आत्ममुग्धता से बचकर अपनी शानदार लय को जारी रखने कर उम्मीद करेगी। तीन हार और एक मैच बारिश की भेंट चढ़ने के बाद पाकिस्तानी टीम पर लीग चरण से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा था, लेकिन उसने दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड पर जीत के साथ शानदार वापसी की और अपनी उम्मीदों को जीवित रखा।

मेजबान इंग्लैंड की दो हार से 1992 की विजेता टीम की सेमीफाइनल की संभावनाएं मजबूत हो गई। पाकिस्तान के लिए न्यूजीलैंड पर छह विकेट की जीत काफी सकारात्मक रही, जिसमें बाबर आजम का शतक और शाहीन अफरीदी का पांच विकेट झटकना अहम रहे।

दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड को हराने के बाद अब चिंता की बात यह है कि खिलाड़ी आत्ममुग्धता का शिकार हो सकते हैं, लेकिन पाकिस्तान ऐसा बिलकुल नहीं होने देना चाहेगा। मौजूदा टीम साथ ही उम्मीद करेगी कि वह वैसा ही प्रदर्शन करे जैसा 1992 में देश की टीम ने किया था और अंत में खिताब हासिल किया था। इमरान खान की उस टीम से तुलना की अनदेखी नहीं की जा सकती, क्योंकि उसने भी ऐसे ही शानदार वापसी करते हुए ट्रॉफी जीती थी।

पाकिस्तान की वापसी और इंग्लैंड को मिली हार से टूर्नामेंट में टीमों के लिए मौके बढ़ गए हैं, लेकिन खिलाड़ी अन्य नतीजों की चिंता के बजाय अपना प्रदर्शन शानदार रखना चाहेंगे। अगर पाकिस्तानी टीम अफगानिस्तान और बांग्लादेश को हरा देती है तो उसके अंतिम चार में पहुंचने के मौके बढ़ जाएंगे।

खराब फॉर्म में चल रहे शोएब मलिक की जगह हैरिस सोहेल को टीम में शामिल करने से पाकिस्तानी बल्लेबाजी में मजबूती आई है। वहीं बायें हाथ के तेज गेंदबाज शाहीन अफरीदी ने मुहम्मद आमिर की अगुवाई वाली गेंदबाजी इकाई को मजबूती दी है।

अफगानिस्तान की टीम ने शानदार जज्बे से सभी का दिल जीत लिया जो भारत के खिलाफ टूर्नामेंट का बड़ा उलटफेर करने की कगार पर पहुंच गई थी। अपने अभियान के अंतिम चरण में पाकिस्तान पर जीत दर्ज करना उसके लिए अच्छा होगा और राशिद खान व गुलबदीन नायब इस बात से भली भांति वाकिफ हैं।

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप