नई दिल्‍ली, जेएनएन। क्रिकेट वर्ल्‍ड कप की कई ऐसी घटनाएं रही हैं जो विवाद का कारण बनी हैं। ऐसी ही एक घटना कोलकाता के ईडन गार्डंस स्‍टेडियम पर उस समय हुई जब यहां भारत और श्रीलंका के बीच वर्ल्‍ड कप का सेमीफाइनल खेला जा रहा था। यहां भारत की हार होती देख फैंस ने स्‍टेडियम में आग लगा दी थी। इसके अलावा प्‍लेयर्स पर बोतलें फेंकी गई थीं। भारतीय फैंस की इस हरकत पर दुनियाभर के लोगों ने खूब आलोचना की थी।

साल 1996 में हुए छठवें वर्ल्‍ड कप में भारतीय क्रिकेट टीम ने शानदार प्रदर्शन किया था। यह वर्ल्‍ड कप श्रीलंका, पाकिस्‍तान और भारत की मेजबानी में हुआ था। शानदार प्रदर्शन के बाद क्‍वार्टर फाइनल मैच में भारतीय टीम ने चिर प्रतिद्वंद्वी टीम पाकिस्‍तान को करारी हार देकर सेमीफाइनल में पहुंची थी। क्‍वार्टर फाइनल मैच में पाकिस्‍तान ने 9 विकेट पर 248 रन का टारगेट दिया था, जिसे भारतीय टीम ने 8 विकेट गंवाकर हासिल कर लिया था। इस मैच को जीतने के बाद भारतीय फैंस श्रीलंका के साथ होने वाले सेमीफाइल को भी जीतने की दुआएं कर रहे थे।

कोलकाता के ईडन गार्डन स्‍टेडियम में 13 मार्च 1996 को हुए सेमीफाइनल को देखने के लिए 1.20 लाख दर्शक पहुंचे थे। पूरा स्‍टेडियम इंडिया इंडिया के नारों से गूंज रहा था। इस बीच भारतीय टीम के कप्‍तान अजहरुद्दीन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। श्रीलंका की टीम से सनथ जयसूर्या और कलुविथराना ने ओपनिंग करते हुए मैच की शुरुआत की।

भारतीय टीम के दिग्‍गज तेज गेंदबाज जवागल श्रीनाथ ने दोनों बल्‍लेबाजों को सस्‍ते में आउट कर दिया। इसके बाद श्रीलंकाई बल्‍लेबाज गुरुसिन्‍हा को भी श्रीनाथ ने चलता कर दिया। इससे भारतीय फैंस का उत्‍साह और बढ़ गया। श्रीलंकाई टीम के अरविंद डिस्ल्विा और महानामा ने अच्‍छी साझेदारियां कर टीम को 251 के स्‍कोर पर पहुंचा दिया। अब भारत को जीत के लिए 252 रन बनाने थे।

भारतीय टीम की ओर से नवजोत सिंह सिद्धू और सचिन तेंदुलकर ने ओपनिंग की। सिद्धू मात्र 3 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद संजय मांजरेकर खेलने आए और वह भी मात्र 25 रन बनाकर पवेलियन चल दिए। इसके बाद अजहरुद्दीन बैटिंग करने मगर वह जीरो पर आउट हो गए। इससे दर्शक स्‍टेडियम में हूटिंग करने लगे। काफी देर से भारतीय टीम की रीढ़ बनकर पिच पर डटे सचिन तेंदुलकर भी 65 रन बनाकर आउट हो गए। सचिन के आउट होते ही दर्शक आगबबूला हो उठे। दर्शकों के हंगामे के बाद 34वें ओवर में जब 2 विकेट बाकी थे तभी मैच को रोक दिया गया।

इस बीच भारतीय फैंस का गुस्‍सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। वह अपनी टीम के प्रदर्शन से नाराज होकर शोर करने लगे और देखते ही देखते फैंस ने प्‍लेयर्स पर बोतलें फेंकनी शुरू कर दीं। पुलिस भी हंगामा कर रहे लोगों को जब तक रोकती तब तक फैंस ने स्‍टेडियम में आग लगी। स्‍टेडियम की सीटें जलने लगीं। इससे वहां अफरातफरी मच गई। आनन फानन में दोनों टीमों के प्‍लेयर्स को सुरक्षा में बाहर निकाला गया। मैच रेफरी ने श्रीलंकाई टीम को विजेता घोषित कर दिया। भारतीय फैंस के इस रवैये की पूरी दुनिया में आलोचना हुई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rizwan Mohammad

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप