नई दिल्ली, जेएनएन। ICC World Cup 2019: 30 मई से शुरू होने जा रहे 12वें आइसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। दुनिया भर के क्रिकेटप्रेमी इसका बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। लंदन के द ओवल ग्राउंड में 30 मई को उद्घाटन मुकाबला मेजबान इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला जाएगा। सबसे खास बात यह है कि दिग्गजों का मानना है कि इस बार का विश्व कप ऑलराउंडर्स के नाम रहेगा। हालांकि हर टीम में एक ऐसा खिलाड़ी है जो पल भर में गेम चेंज करने की क्षमता रखता है। ऐसे में आइए जानते हैं कि उन 10 खिलाड़ियों के बारे में जो अकेले दम पर मैच पलट सकते हैं।    

1. आंद्रे रसेल (वेस्ट इंडीज)

आइपीएल 2019 में भले ही चैंपियन मुंबई इंडियंस बनी हो लेकिन पूरे टूर्नामेंट में एक खिलाड़ी ने सभी को प्रभावित किया और वह हैं आंद्रे रसेल। जनवरी 2017 में डोपिंग की वजह से बैन झेल चुके आंद्रे रसेल जोरदार वापसी करते हुए अब तक 58 मैचों में 130 छक्के लगा चुके हैं। आइपीएल में रसेल ने हर गेंदबाज को बुरी तरह धोया। टूर्नामेंट के अंत में रसेल सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में 5वें स्थान पर रहे। इसके अलावा रसेल मीडियम पेसर भी हैं। उन्होंने आइपीएल में 12 पारियों में 11 विकेट हासिल किए हैं। फैन्स को उम्मीद है कि वर्ल्ड कप में भी रसेल अपने जबरदस्त खेल से कई रिकॉर्ड तोड़ेंगे।   

2. हार्दिक पंड्या (भारत)

आइपीएल में मुंबई की ओर से खेल रहे हार्दिक पंड्या का भी धुंआधार अंदाज देखने को मिला। पंड्या ने डेथ ओवर्स में टीम के लिए तूफानी बल्लेबाजी करते हुए अहम रन जोड़े। पंड्या ने इस बार हेलीकॉप्टर शॉट का बखूबी इस्तेमाल किया। 25 साल के इस खिलाड़ी की गेंदबाजी में भी काफी सुधार देखा गया। पंड्या ने 16 पारियों में 9.17 की इकोनॉमी के साथ 14 विकेट चटकाए। इसमें कोई शक नहीं कि हार्दिक पंड्या टीम इंडिया की जीत में अहम भूमिका निभाएंगे।    

3. राशिद खान (अफगानिस्तान) 

 

वर्ल्ड क्रिकेट में अफगानिस्तान एक ऐसी टीम है जो तेजी से आगे बढ़ रही है। कुछ साल पहले कमजोर मानी जाने वाली टीम आज दिग्गजों को मात दे रही है। और इस सबके पीछे सिर्फ एक खिलाड़ी का हाथ है...वह हैं राशिद खान। 20 साल के इस खिलाड़ी ने वर्ल्ड क्रिकेट में अफगानिस्तान का औदा बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई है। वनडे और टी20 क्रिकेट में राशिद ने गजब का प्रदर्शन किया है। इसके अलावा आइपीएल हो या बीबीएल या फिर सीपीएल राशिद हर टी20 लीग में छाए रहते हैं। यह लेग स्पिनर लोवर ऑर्डर बल्लेबाज भी हैं। इसमें कोई शक नहीं कि इस विश्व कप में अफगानिस्तान के लिए वह अहम खिलाड़ी साबित होंगे।    

4. मार्कस स्टोइनिस (ऑस्ट्रेलिया)

 

विराट कोहली पहले ही स्टोइनिस को "सबसे बड़ा खतरा" बता चुके हैं। हाल ही में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई सीरीज के दौरान स्टोइनिस के ऑलराउंड प्रदर्शन की मदद से मेजबान टीम ने टीम इंडिया को 3-2 से हराया था। सीरीज में स्टोइनिस ने 140 रन बनाए और साथ ही निर्णायक मैच में विराट कोहली का अहम विकेट भी हासिल किया। 29 साल का ये ऑलराउंडर कंगारू टीम के लिए गेम चेंजर साबित हो सकता है।  

5. शाकिब अल हसन (बांग्लादेश)

इसमें कोई शक नहीं कि शाकिब बांग्लादेश के लिए खेलने वाले बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक हैं। साथ ही वह विश्व क्रिकेट में सबसे अच्छे और अनुभवी ऑलराउंडर भी हैं। शाकिब आइसीसी की ऑलराउंडर्स रैंकिंग में जेसन होल्डर के बाद दूसरे स्थान पर हैं। शाकिब वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के लिए तुरुप का इक्का साबित हो सकते हैं।

6. थिसारा परेरा (श्रीलंका)

थिसारा परेरा अच्छे फॉर्म में तो हैं लेकिन काफी समय से लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं। हालांकि साल 2018 में थिसारा परेरा ने बल्ले और गेंद दोनों से प्रभावित किया था। श्रीलंकाई टीम भले ही संघर्ष करती दिख रही है लेकिन  परेरा गजब के फॉर्म में हैं। श्रीलंका के इस खिलाड़ी ने 2019 की शुरुआत न्यूजीलैंड के खिलाफ 74 गेंदों में 140 रन बनाकर की थी। श्रीलंका के लिए परेरा अहम भूमिका निभा सकते हैं।  

7. फख्र जमां (पाकिस्तान)

 

2017 चैंपियंस ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन से फख्र जमां चर्चा में आए। उसके बाद इस ओपनर बल्लेबाज ने सबसे तेज 1000 वनडे रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया। जमां ओपनिंग करते हुए गेंदबाजों को अटैक करके टीम को अच्छी शुरुआत देते हैं।   

8. ट्रेन्ट बोल्ट (न्यूजीलैंड)

विश्व क्रिकेट में ट्रेन्ट बोल्ट सबसे ज्यादा अंडररेटेड क्रिकेटर्स में से एक हैं। कीवी टीम के इस गेंदबाज के वनडे में आंकड़ें कमाल के हैं और ये अपनी घातक गेंदबाजी से किसी भी टीम की बैटिंग लाइन अप को ध्वस्त कर सकता है। बोल्ट नई और पुरानी दोनों गेंदों से खतरनाक साबित होते हैं। यहां तक कि इंग्लैंड की पिच पर बोल्ट और घातक साबित हो सकते हैं।  

9. कागिसो रबाडा ( दक्षिण अफ्रीका)

 

कागिसो रबाडा साल 2015 में अपने डेब्यू के बाद से साउथ अफ्रीका के लिए बेहद अहम खिलाड़ी के रूप में उभरे हैं। रबाडा ने गेंदबाजी से अपनी टीम को कभी निराश नहीं किया है। रबाडा ने 62 मैचों में 98 विकेट चटकाए हैं। यहां तक कि हाल ही में हुए आइपीएल में रबाडा ने अपनी टीम दिल्ली कैपिटल्स को अकेले दम पर कई मैच में जीत दर्ज करवाई। इंग्लैंड की पिचों में वह अपनी पेस से बल्लेबाजों को परेशान करने में कामयाब होंगे।

10. बेन स्टोक्स (इंग्लैंड)

 

एक खिलाड़ी जिसने वनडे क्रिकेट में इंग्लैंड के पुनरुत्थान में बड़े पैमाने पर योगदान दिया है, वह हैं बेन स्टोक्स। स्टोक्स सही मायने में एक ऑलराउंडर हैं क्योंकि वह बल्ले और गेंद दोनों से अकेले दम पर मैच जीत सकते हैं। मिडिल ऑर्डर में जुझारू बल्लेबाजी, 10 अच्छे ओवर फेंकने की क्षमता और मैदान में शानदार प्रदर्शन, उन्हें इस वर्ल्ड कप में अहम खिलाड़ी बनाता है। अपने पहले खिताब की तलाश में इंग्लैंड के लिए यह खिलाड़ी मुख्य भूमिका निभाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ruhee Parvez