नागपुर, प्रेट्र। शेष भारत के कप्तान अंजिक्य रहाणे रणजी चैंपियन विदर्भ के खिलाफ मंगलवार से शुरू होने वाले ईरानी कप मैच में बड़ा स्कोर बनाकर विश्व कप टीम में जगह बनाने के लिए अपना दावा पेश करने की कोशिश करेंगे। विदर्भ अपने लिए 2017-18 सत्र को यादगार बनाने की कोशिश करेगा, लेकिन रणजी चैंपियन को अपने मुख्य तेज गेंदबाज उमेश यादव के बिना उतरना होगा। ऐसे में विदर्भ के लिए काम आसान नहीं होगा क्योंकि शेष भारत टीम में टेस्ट उप कप्तान रहाणे के अलावा सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल, श्रेयस अय्यर और हनुमा विहारी जैसे खिलाड़ी है।

रहाणे ने इंग्लैंड लायंस के खिलाफ लिस्ट-ए के तीन मैच खेले थे जिसमें उन्होंने दो अर्धशतक लगाए। उनकी निगाह विश्व कप टीम में रिजर्व सलामी बल्लेबाज की जगह पर लगी है। अग्रवाल, अय्यर और विहारी तीनों ही विश्व कप की टीम में जगह बनाने के दावेदार नहीं हैं, लेकिन रहाणे अच्छी पारी खेलने पर चयनकर्ताओं का ध्यान खींच सकते हैं। विदर्भ ने इस सत्र में अच्छा प्रदर्शन किया है और कोच चंद्रकांत पंडित चाहेंगे कि उनके खिलाड़ी अपनी अच्छी फॉर्म जारी रखें। टीम को हालांकि उमेश की कमी खलेगी जिन्हें चोटिल होने के कारण विश्राम करने की सलाह दी गई है। उनके स्थान पर यश ठाकुर को शामिल किया गया है।

विदर्भ की टीम में हालांकि 41 वर्षीय वसीम जाफर, बायें हाथ के स्पिनर आदित्य सरवटे, विकेटकीपर बल्लेबाज अक्षय वाडकर और तेज गेंदबाज रजनीश गुरबानी जैसे खिलाड़ी हैं, जो अच्छी फॉर्म में हैं। सरवटे ने रणजी फाइनल में चेतेश्वर पुजारा जैसे बल्लेबाज को अपने जाल में फंसाकर विदर्भ को चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। उनकी निगाह अब रहाणे को सस्ते में समेटने पर टिकी रहेंगी।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप