नई दिल्ली, जेएनएन। विजय हजारे ट्रॉफी में गुरुवार को खेले गए मुकाबले में मुंबई ने पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव की धमाकेदार पारी के दम पर रिकॉर्ड स्कोर खड़ा किया। एलीट ग्रुप डी के राउंड थ्री के मैच में पुडुचेरी के खिलाफ मुंबई की टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 4 विकेट पर 457 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। झारखंड द्वारा 4 दिन पहले बनाए गए टूर्नामेंट के इतिहास के सबसे बड़े स्कोर का रिकॉर्ड मुंबई ने तोड़ दिया है।

टॉस हारने के बाद कप्तान पृथ्वी साथी यशस्वी जायसवाल के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे। 10 रन बनाकर यशस्वी आउट हो गए लेकिन पृथ्वी ने एक छोर थामे रखा। अदित्य तरे 56 रन बनाकर आउट और टीम को दूसरा झटका लगा। इसके बाद सूर्यकुमार यादव और पृथ्वी ने मिलकर पुडुचेरी के गेंदबाजों की जमकर पिटाई की। कप्तान ने पहले अपना शतक पूरा किया और फिर 142 गेंद पर 27 चौके और 4 छक्के की मदद से दोहरा शतक जमाया।

सूर्यकुमार ने भी कप्तान का साथ देते हुए दूसरे छोर से चौकों छक्कों की बरसात जारी रखी। महज 50 गेंद पर इस बल्लेबाज ने अपना शतक पूरा किया। इसके बाद अगले 7 गेंद पर उन्होंने 33 रन और बना डाले। 58 गेंद पर 22 चौके और 4 छक्के लगाकर 133 रन बनाकर सूर्यकुमार आउट हुए।

भारत में लिस्ट ए में सबसे बड़ा स्कोर

झारखंड की टीम ने चार दिन पहले ही मध्यप्रदेश के खिलाफ 9 विकेट पर 422 रन का स्कोर खड़ा कर विजय हजारे ट्रॉफी में सबसे बड़ा स्कोर है। मुंबई की टीम ने 457 रन बनाते हुए इस रिकॉर्ड को तोड़ कर अपने नाम कर लिया। साल 2010 में मध्य प्रदेश की टीम ने रेलवे के खिलाफ 412 रन बनाए थे। लिस्ट ए क्रिकेट में बनाया गया यह तीसरा सबसे बड़ा स्कोर है। साउथ अफ्रीका की टीम ने 2015 में मुंबई में भारत के खिलाफ 438 रन का स्कोर खड़ा किया था। यह अब तक भारत में किसी टीम का सबसे बड़ा स्कोर था जिसे मुंबई ने तोड़ डाला।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप