नई दिल्ली, जेएनएन। रविवार को खेले गए सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के बेहद रोमांचक मुकाबले में कर्नाटक ने तमिलनाडु को 1 रन से हरा दिया। यह कर्नाटक का लगातार दूसरा खिताब है। कर्नाटक पहली ऐसी टीम बन गई है जिसने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के खिताब पर लगातार दो बार कब्जा जमाया है।

पहले बल्लेबाजी करते हुए कर्नाटक ने निर्धारित 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 180 रन बनाए थे। कप्तान मनीष पांडे ने लजवाब बल्लेबाजी करते हुए 45 गेंद पर 60 रन की पारी खेली। आर अश्विन और एम अश्विन ने दो-दो विकेट लिए। जबकि वॉशिंगटन सुंदर ने एक विकेट हासिल किया। 

तमिलनाडु की तरफ से कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाया और टीम 6 विकेट के नुकसान पर 179 रन ही बना पाई। कर्नाटक की तरफ से रोनित मोरे ने दो विकेट हासिल किया जबकि कृष्णप्पा गौतम, श्रेयस गोपाल और जगदीश सुचित ने एक-एक चटकाए।  

आखिरी ओवर का रोमांच

तमिलनाडु को जीत के लिए आखिरी ओवर में 12 रन की जरूरत थी। कृष्णप्पा गौतम कर्नाटक की तरफ से आखिरी ओवर करने आए। पहली दो गेंद पर आर अश्विन ने चौका लगाया चौका लगाया। अब बाकी बजे चार गेंद पर चार रन की जरूरत थी। अगली दो गेंद पर सिर्फ 1 रन बने और पांचवीं गेंद पर अश्विन आउट हो गए। एम अश्विन आखिरी गेंद पर सिर्फ 1 रन बना पाए और कर्नाटक ने एक रन के अंतर से जीत हासिल कर इतिहास रच दिया।

कप्तान मनीष पांडे ने फाइनल में रचा इतिहास

कर्नाटक के कप्तान मनीष पांडे ने सैयद मुश्ताक अली के फाइनल में अर्धशतक जमाया। मनीष ने 45 गेंद पर 4 चौके और 2 छक्के की मदद से 60 रन की पारी खेली। इसी के साथ टूर्नामेंट के फाइनल में अर्धशतक बनाने वाले मनीष पहले कप्तान बन गए हैं। इससे पहले सुरेश रैना ने 47 रन की सबसे पहली पारी खेली थी।

कर्नाटक ने जीता 12वां सैयद मुश्ताक अली का खिताब

साल 2006-07 में शुरू हुए बीसीसीआई के टी20 लीग पर सबसे पहले तमिलनाडु ने कब्जा जमाया था। इसके बाद से 9 टीमों ने जीत दर्ज की है। कर्नाटक ने लगातार दो बार 2018 और 2019 में यह खिताब जीत कर इतिहास रचा है। बड़ौदा और गुजरात ने दो बार खिताब जरूर जीता है लेकिन उसने अलग-अलग साल में जीता था। अब तक तमिलनाडु, मुंबई, बंगाल, बडौदा, गुजरात, बड़ौदा, गुजरात, उत्तर प्रदेश, ईस्ट जोन और दिल्ली ने खिताब जीता है। 

Posted By: Viplove Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप