नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच दूसरा टेस्ट मैच लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर खेला जाना था  लेकिन मैच के पहले दिन बारिश की वजह से एक भी गेंद फेंकी नहीं जा सकी। यहां तक की बारिश ने टॉस तक नहीं होने दिया। आज लॉर्ड्स में सुबह से ही लगातार बारिश हो रही थी लेकिन किसी ने ये नहीं सोचा था कि दिन का खेल बिना एक गेंद डाले रद्द हो जाएगा। हालांकि फैंस के लिए अच्छी बात ये हैं कि मैच की दूसरे दिन मौसम साफ रहने की उम्मीद है।

17 साल बाद बना ये रिकॉर्ड

लॉर्ड्स में भारत और इंग्लैंड के बीच पहले दिन का खेल रद्द हो गया, इसी के साथ इस मैदान पर 17 साल के बाद ये पहला मौका है, जब किसी भी टेस्ट मैच के पूरे दिन का खेल रद्द हुआ। इससे पहले लॉर्ड्स में ऐसा 2001 में हुआ था, जब पूरे दिन का खेल रद्द करना पड़ा था। ये मैच पाकिस्तान और इंग्लैंड की टीमों के बीच खेला जा रहा था।

पांच टेस्ट मैचों की सीरीज़ के पहले मैच में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा था और उस मैच में टीम इंडिया के प्लेइंग कॉम्बिनेशन को लेकर भी कई सवाल खड़े हुए थे।

बारिश से बदलेगा टीम कॉम्बिनेशन!

लॉर्ड्स में टॉस से पहले हुई बारिश ने कप्तान विराट कोहली की मुश्किलों को और बढ़ा दिया है। मैच से पहले कहा जा रहा था कि लंदन में इन दिनों काफी गर्मी है तो दो स्पिन गेंदबाज़ों को मौका देना चाहिए, लेकिन मैच से ठीक पहले आई इस बारिश ने दोनों कप्तानों को दुविधा में डाल दिया है। ओवरकास्ट कंडीशंस की वजह से अगर वो एक अतिरिक्त तेज़ गेंदबाज़ के साथ उतरते हैं और बाकी के चार दिन बारिश नहीं होती और विकेट की नमी निकल जाएगी तो उन्हें स्पिन गेंदबाज़ की कमी खलेगी। लॉर्ड्स में यदि टीमें दो स्पिन गेंदबाज़ों के साथ उतरी और बाकी के चार दिन भी ओवरकास्ट कंडीशंस ही रही तो फिर उस स्पिनर का टीम को क्या ही फायदा होगा?

ऐसा हो सकता है भारत का प्लेइंग इलेवन

बर्मिंघम में 31 रन से मात खाने के बाद विराट कोहली ने इशारों-इशारों में ही बल्लेबाज़ों की नाकामी को ही हार की वजह ठहराया था। कोहली जानते हैं कि भारत को अगर अब सीरीज़ में बने रहना है तो लॉर्ड्स टेस्ट में जीत हासिल करनी ही होगी। इसके लिए लॉर्ड्‍स टेस्ट के लिए प्लेइंग इलेवन में बदलाव करने होंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लॉर्ड्स टेस्ट के लिए भारतीय टीम में शिखर धवन की जगह चेतेश्वर पुजारा को मौका दिया जा सकता है। शिखर धवन ने पहले टेस्ट में बल्लेबाज़ी तो खराब की ही थी साथ-साथ उन्होंने अपनी फिल्डिंग से भी सभी को निराश किया था। धवन ने कई कैच भी छोड़े थे। अगर धवन को टीम से बाहर किया गया तो फिर दूसरे ओपनर की भूमिका लोकेश राहुल निभाएंगे और पुजारा नंबर तीन पर बल्लेबाज़ी करेंगे।

रहाणे होंगे बाहर!

अजिंक्य रहाणे का बल्ला पिछले काफी समय से खामोश है। उन्होंने पिछला शतक एक साल पहले अगस्त 2017 में श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में बनाया था। उसके बाद से टीम इंडिया के उप-कप्तान टेस्ट क्रिकेट में एक अर्धशतक तक लगाने के लिए तरस रहे हैं। टीम इंडिया की उम्मीदों पर वो खरे नहीं उतर पा रहे हैं। ऐसे में उनकी जगह करुण नायर को मौका दिया जा सकता है, लेकिन ऐसा होने की संभावना न के बराबर ही लगती है, क्योंकि रहाणे ने फिछले दौरे पर इंग्लैंड में बेहतरीव प्रदर्शन किया था। लॉर्ड्स जिस मैदान पर अगला टेस्ट खेला जाना है। उस मैदान पर उन्होंने शतक भी जमाया था। इस मैदानन पर रहाणे ने 103 रन की पारी खेली थी। 

पांड्या को भी बैठना पड़ सकता है बाहर

लॉर्ड्‍स की पिच पर स्पिनरों को ज्यादा मदद मिलने की उम्मीद है। ऐसे मेंं कोहली एंड कंपनी लॉर्ड्स में दो स्पिन गेंदबाज़ों के साथ भी उतर सकती है, तो ऐसे में हार्दिक पांड्या की जगह रवींद्र जडेजा को टीम में शामिल किया जा सकता है। हार्दिक का प्रदर्शन पहले टेस्ट में अच्छा नहीं रहा था वे एक भी विकेट नहीं ले पाए थे।

टीम इंडिया की संभावित 11

मुरली विजय, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, दिनेश कार्तिक, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, इशांत शर्मा, उमेश यादव, मोहम्मद शमी।

ये खिलाड़ी हो सकते हैं बाहर

शिखर धवनरिषभ पंतकरुण नायरहार्दिक पांड्याकुलदीप यादवशार्दुल ठाकुरजसप्रीत बुमराह।

इंग्लैंड ने किया 12 सदस्यों की टीम का एलान

जो रूट (कप्तान), एलस्टेयर कुक, कीटन जेनिंग्स, ओली पोप, आदिल राशिद, जोस बटलर, जॉनी बेयरस्टो (विकेटकीपर), जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड, सैम कुर्रन, मोइन अली और क्रिस वोक्स।

जो रूट ने कहा कि फिलहाल 12 सदस्यों की टीम का एलान किया जा रहा है। डेविड मलान की जगह दूसरे टेस्ट में ओली पोप को मौका दिया गया है। वहीं इंग्लैंड की टीम टॉस से पहले इस बात का फैसला करेगी की मोइन अली या फिर क्रिस वोक्स में से किसे मौका दिया जाए।  

1-0 से पीछे है भारत

बर्मिंघम में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन तो किया, लेकिन इस शानदार कोशिश के बावजूद भी कोहली एंड कंपनी को हार का मुंह देखना पड़ा। पहले टेस्ट मैच में विराट कोहली को छोड़ कर ज़्यादातर बल्लेबाज़ों ने अपने प्रदर्शन से फैंस को निराश ही किया। इस टेस्ट सीरीज़ में टीम इंडिया को पहले मुकाबले में 31 रन से हार का सामना करना पड़ा था। ये इंग्लैंड की धरती पर भारत की सबसे करीबी हार रही। 

लॉर्ड्स में ऐसा रहा है भारत का रिकॉर्ड

लॉर्ड्स के मदान पर टीम इंडिया का रिकॉर्ड बहुत खराब रहा है। यहां पर भारत और इंग्लैंड के बीच 17 टेस्ट मैच खेले गए हैं। इनमें से भारत को 11 मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा है। इंग्लैंड की टीम को सिर्फ 2 मैच में हार का सामना करना पड़ा है। वहीं 4 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal